Home /News /business /

...तो क्या कंगाल हो जाएगा पाकिस्तान? कोविड-19 की वजह से पहली बार खड़ी हो सकती है ये मुश्किल

...तो क्या कंगाल हो जाएगा पाकिस्तान? कोविड-19 की वजह से पहली बार खड़ी हो सकती है ये मुश्किल

इमरान खान

इमरान खान

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने पाकिस्तान को चेतावनी दी है. IMF ने कहा कि कोविड-19 की वजह से पाकिस्तान का बजट घाटा (Budget Deficit) ऐतिहासिक स्तर पर पहुंच सकता है.

    नई ​दिल्ली. अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) ने पाकिस्तान को आगाह किया है कि कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की वजह से चालू वित्त वर्ष में उसका बजट घाटा (Budget Deficit) राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के रिकॉर्ड 9.2 प्रतिशत या 4,000 अरब रुपये (23.7 अरब डॉलर) पर पहुंच सकता है.

    हेल्थ सेक्टर पर खर्च बढ़ाए पाक
    IMF ने बुधवार को पश्चिम एशिया और मध्य एशिया क्षेत्रीय आर्थिक परिदृश्य (REO) पर ताजा अनुमान जारी किया. IMF ने पाकिस्तान से कहा है कि वह हेल्थ सेक्टर पर अपना खर्च बढ़ाए, जो क्षेत्र में सबसे निचले स्तर पर है. ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने रिपोर्ट के हवाले से कहा कि क्षेत्र के सभी देशों में इस वायरस की वजह से खर्च बढ़ेगा.

    यह भी पढ़ें: 20 अप्रैल से खुल जाएगा ऑनलाइन मार्केट, खरीद सकते हैं मोबाइल फोन और टीवी

    पिछली बार से 800 अरब बढ़ाने का अनुमान
    रिपोर्ट में कहा गया है कि कोविड-19 से पहले पाकिस्तान का बजट घाटा सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के 7.3 प्रतिशत पर रहने का अनुमान था. अब इसके बढ़कर 9.2 प्रतिशत पर पहुंचने की आशंका है. कुल मिलाकर पिछले अनुमान से यह करीब 800 अरब रुपये अधिक होगा.

    IMF का अनुमान है कि पाकिस्तान में मुद्रास्फीति (Inflation) की दर इस साल 11.1 प्रतिशत रहेगी. अगले साल इसके आठ प्रतिशत रहने का अनुमान है.

    यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के बाद संकट, रघुराम राजन, अभिजीत बनर्जी और अमर्त्य सेन ने दिए ये सुझाव

    क्या है IMF का कहना
    वित्त मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि राजस्व झटके की वजह से बजट घाटा बढ़ने की आशंका है क्योंकि सरकार ने अभी तक बजटीय खर्च में कोई बड़ी वृद्धि नहीं की है. IMF का अनुमान है कि वित्त वर्ष 2020-21 में बजट घाटा 6.5 प्रतिशत रहेगा, जो कोविड-19 से पहले के विश्लेषण से एक प्रतिशत अधिक होगा.

    पाकिस्तान के इतिहास में सबसे अधिक घटा
    यह बजट घाटा पाकिस्तान के इतिहास का सबसे अधिक होगा. तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के सत्ता संभालने के पहले वर्ष में पाकिस्तान ने 28 बरस का सबसे ऊंचा बजट घाटा दर्ज किया था.

    यह भी पढ़ें: लॉकडाउन ने प्राइवेट हेल्थकेयर को संकट में धकेला, सरकार से राहत की मांग

    Tags: Business news in hindi, Imran khan, International Monetary Fund, Pakistan, Pakistan government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर