Economic Survey 2021: इकोनॉमी की रिकवरी के लिए उठाए जाएंगे ठोस कदम, जानें क्या है केंद्र सरकार का आगे का प्लान

आर्थिक सर्वेक्षण

आर्थिक सर्वेक्षण

Budget 2021: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM nirmala sitharaman) ने शुक्रवार को आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 (Economic Survey 2021) लोकसभा में पेश कर दिया. सर्वेक्षण में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आर्थिक विकास दर (GDP) 11 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 4:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: Budget 2021: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM nirmala sitharaman) ने शुक्रवार को आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 (Economic Survey 2021) लोकसभा में पेश कर दिया. सर्वेक्षण में वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आर्थिक विकास दर (GDP) 11 फीसदी रहने का अनुमान जताया गया है. इससे पहले, संसद के बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ हुई. आम बजट पेश किए जाने के पूर्व आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाता है. इसमें देश अर्थव्‍यवस्‍था का पूरा लेखा जोखा रहता है.

निवेश बढ़ाने पर रहेगा जोर

आर्थिक सर्वेक्षण में वित्त मंत्री ने कहा कि निवेश बढ़ाने वाले कदमों पर जोर रहेगा. इसके अलावा ब्याज दर कम होने से बिजनेस इक्विटी बढ़ेगी. साथ ही कोरोना वैक्सीन के आ जाने के बाद से महामारी पर भी काबू पाया गया है. वित्त मंत्री ने कहा कि आगे इकोनॉमिक रिकवरी के लिए ठोस कदम उठाए जाने हैं, जिसके बाद इंडियन इकोनॉमी कोरोना वायरस के प्रभाव से निकलकर जबरदस्त बाउंस बैक करेगी.

according to Economic Survey 2021 indian GDP growth forecast rate will be 7 7 percent in FY22 NDSS
लोकसभा में पेश हुआ इकोनॉमिक सर्वे

41061 स्टार्टअप्स को दी मान्यता

23 दिसंबर 2020 तक, GoI ने कुल 41061 स्टार्टअप्स को मान्यता दी है और 39,000 से अधिक स्टार्टअप्स द्वारा 4,70,000 नौकरियों की सूचना दी गई है. 1 दिसंबर 2020 तक, सिडबी (SIDBI) ने 60 सेबी द्वारा पंजीकृत वैकल्पिक निवेश कोष (AIFs) के लिए फंड की निधि से स्टार्टअप्स (FFS) के लिए 4326.95 करोड़ रुपये का भुगतान किया है, जिसमें कुल 10,000 करोड़ रुपये का कोष है. इन फंडों ने 1,598 करोड़ रुपये का कोष कोष जुटाया है. FFS से 1270.46 करोड़ रुपये निकाले गए हैं और 4509.16 करोड़ रुपये 384 स्टार्टअप्स में लगाए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज