होम /न्यूज /व्यवसाय /Warren Buffett ने बड़े निवेश का किया खुलासा, जानिए किन कंपनियों में किया इन्वेस्टमेंट

Warren Buffett ने बड़े निवेश का किया खुलासा, जानिए किन कंपनियों में किया इन्वेस्टमेंट

वॉरेन बफे ने शेयरों की खरीदारी बढ़ाई है.

वॉरेन बफे ने शेयरों की खरीदारी बढ़ाई है.

बर्कशायर हैथवे इंक ने एक बार फिर से शेयरों को पोर्टफोलियो में ​शामिल करना शुरू किया है. इससे पहले दुनिया के दिग्गज निवे ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली . लगता है कि दुनिया के दिग्गज निवेशक वॉरेन बफे (Warren Buffett) की स्टॉक के हाई वैल्यूएशन की शिकायत अब दूर हो गई है. शायद यही वजह है कि उनकी कंपनी बर्कशायर हैथवे इंक अब कंपनियों के शेयरों को पोर्टफोलियो में ​शामिल करने लगी हैं. ग्रुप ने पहली तिमाही में करीब 41 बिलियन डॉलर की शुद्ध खरीदारी की है, जिसमें तेल कंपनी शेवरॉन कॉर्प (Chevron Corp) में स्टेक बढ़ाना शामिल है.

बफे ने बर्कशायर हैथवे की एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) में इसका भी खुलासा किया कि ग्रुप के पास अब गेम बनाने वाली कंपनी एक्टिविजन ब्लिजार्ड इंक (Activision Blizzard Inc) के 9.5 फीसदी शेयर हैं. कुछ महीने पहले ही माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने वीडियो गेम बनाने वाली इस कंपनी को खरीदने का एलान किया था.

दरअसल, वॉरेन बफे वर्षों से हाई वैल्यूएशन के कारण शेयर नहीं खरीदने की दलील दे रहे थे. कंपनी की एजीएम बफे के होम टाउन ओमाहा के नेब्रास्का में आयोजित हुई. बफे की हाल के महीनों में बढ़ती गतिविधियां और 2019 के बाद पहली बार उनका व्यक्तिगत रूप से एनुअल मीटिंग में बतौर सीईओ के रूप में शामिल होना से बाजार जगत में बाजार, परमाणु हथियार और यहां तक ​​​​कि बिटकॉइन के बारे में कई सवालों को हवा दे दी है. यह बैठक कई घंटों तक चली.

ये भी पढ़ें- इस अक्षय तृतीया पर सोना खरीदें या गोल्ड ईटीएफ करें निवेश, जानें क्या है बेस्ट

बफे मंच पर दो प्रमुख डेप्युटी ग्रेग एबेल और अजीत जैन के साथ उपस्थित हुए, जिन्होंने रेलरोड, साइबर हमलों और ऑटो इंश्योरेंस कंपनियों के बारे में सवालों के जवाब दिए. बफे ने पिछले साल जब बर्कशायर का सीईओ पद छोड़ने का फैसला किया था, तब उन्होंने एबेल को आधिकारिक तौर सीईओ पद के उत्तराधिकारी की पुष्टि की गई थी. बफे ने शेयर खरीदने से संबंधित एक सवाल के जवाब में कहा, “बाजार में जोश काम करता है और कभी कभार कुछ करने का मौका मिलता है. ऐसा नहीं है कि हम स्मार्ट हैं, बल्कि हम समझदार हैं.”

ये भी पढ़ें- SEBI ने एफपीआई के लिए नियमों में किए बदलाव, 9 मई से लागू होंगे गाइडलाइंस

ऑक्सीजन की तरह है कैश

बफे ने कहा, “हमारे पास हमेशा कैश रहेगा. यह ऑक्सीजन की तरह हमेशा मौजूद रहती है. यदि कुछ मिनटों के लिए गायब हो जाए, तो सब कुछ खत्म हो जाएगा.” बर्कशायर हैथवे की कैश हिस्सेदारी 40 अरब डॉलर से बढ़कर 106 अरब डॉलर हो गई है. इससे पहले इस साल फरवरी में बफे ने शेयरहोल्डर्स को भेजे लेटर में निवेश में कमी को लेकर दुख व्यक्त किया था.

इस साल आखिरी चैरिटी लंच नीलामी

एनुअल मीटिंग में 91 वर्षीय बफे और बर्कशायर हैथवे के 98 वर्षीय वाइस प्रेसिडेंट चार्ली मुंगेर के दबदबे से लग रहा है कि वे जल्द अपनी भूमिकाओं से पीछे हटने वाले हैं. हालांकि, दोनों अधिकारियों ने हाल के वर्षों में अपनी गतिविधियों को थोड़ा कम कर दिया है. बफेट ने घोषणा की कि दो दशकों से चल रही उनकी चैरिटी लंच नीलामी इस साल आखिरी होगी. मुंगेर ने भी डेली जर्नल कॉर्प में अध्यक्ष पद को त्याग दिया है.

Tags: Business news in hindi, Investment, USA share market

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें