3 से 5 साल का है Job एक्सपीरियंस? तो अगले 6 महीने में मिल जाएगी नौकरी, आने वाली है नौकरियों की बहार

अगर आपके पास से 3-5 साल का जॉब एक्सपीरियंस है तो अगले 6 महीने में नौकरी आपके लिए बन रहे हैं शानदार नौकरी के मौके.

पीटीआई
Updated: July 26, 2019, 9:05 AM IST
3 से 5 साल का है Job एक्सपीरियंस? तो अगले 6 महीने में मिल जाएगी नौकरी, आने वाली है नौकरियों की बहार
3-5 साल अनुभव वाले कर्मचारियों के लिए बढ़ेगी नौकरी
पीटीआई
Updated: July 26, 2019, 9:05 AM IST
अगर आपके पास से 3-5 साल का जॉब एक्सपीरियंस है तो अगले 6 महीने में नौकरी आपके लिए बन रहे हैं शानदार नौकरी के मौके. इस साल दूसरी छमाही में कंपनियां नई नियुक्यिां करने का प्लान कर रही हैं. ये नौकरी उन लोगों के लिए होंगी जिनके पास 3-5 साल का अनुभव है. आपको बता दें कि ये जानकारी एक सर्वे रिपोर्ट में सामने आई है.

जॉब साइट नौकरी.कॉम ने छमाही सर्वे ‘नौकरी हायरिंग आउटलुक जुलाई-दिसंबर 2019’ ने बताया कि सर्वे में शामिल 78 फीसदी कंपनियों ने अगले छह महीनों में हायरिंग ऐक्टिविटी बढ़ने की अनुमान लगाया है. उनके मुताबिक पिछले साल इसी टाइम पीरियड में यह आकंड़ा 70 फीसदी रहा था. हालांकि, रोजगार के अवसर तो बन रहे हैं, लेकिन कंपनियों के लिए काबिल उम्मीदवार तलाशना मुसिबत बन गया है. सर्वे में 41 फीसदी रिक्रूटर्स ने बताया कि अगले छह महीनों में टैलेंट की तंगी बढ़ सकती है. एक साल पहले यह आशंका 50 फीसदी कंपनियों ने जताई थी.

ये भी पढ़ें: पोस्ट ऑफिस: खोले 100 रुपये में ये खाता, मिलेंगे डबल फायदे

इन लोगों को मिलेगा मौका

सर्वे के अनुसार, सबसे ज्यादा हायरिंग 3-5 साल अनुभव वाले रखने वाले उम्मीदवारों की होगी. इसके बाद 1-3 साल का अनुभव रखने वालों को मौका मिलेगा. वहीं, कुल ​हायरिंग का करीब 18 फीसदी 8 साल से अधिक अनुभव रखने वाले उम्मीदवारों को मिलेगा. बीपीओ सेक्टर की कंपनियां अपनी कुल हायरिंग में 50 फीसदी जगह 0-1 साल अनुभव रखने वाले उम्मीदवारों को देंगी. वहीं, ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री 12 साल से ज्यादा एक्सपीरियंस वाले प्रोफेशनल्स को हायर करेंगी.

आईटी, बीएफएसआई और बीपीओ में 80-85 फीसदी नई जॉब्स पैदा होंगी
रिपोर्ट के मुताबिक, 16 फीसदी कंपनियों का कहना है कि अगले छह महीने सिर्फ रिप्लेसमेंट हायरिंग होगी. वहीं 5 फीसदी कहते हैं कि हायरिंग में कोई बढ़ोतरी नहीं होगी, जबकि कुल कंपनियों में से एक फीसदी छंटनी की आशंका जता रहे हैं. आईटी, बीएफएसआई और बीपीओ की करीब 80-85 फीसदी कंपनियां नए नौकरियां पैदा होने का संकेत दे रही हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें: LIC की नई पॉलिसी, रोज 28 रुपए जमा कर सिक्योर करें फ्यूचर

ये नौकरी बदलने की वजह
बेहतर कंपनसेशन, अच्छी प्रोफाइल और करियर ग्रोथ नौकरी बदलने वाले कर्मचारियों के लिए सबसे बड़ी वजह है. हालांकि, कुछ कर्मचारी रिलोकेशन और मैनेजर की वजह से भी दूसरी कंपनी में चले जाते हैं. इस हायरिंग आउटलुक सर्वे में 15 से ज्यादा बड़ी इंडस्ट्रीज की करीब 2,700 कंपनियां और कंसल्टेंट्स शामिल किए गए थे.
First published: July 26, 2019, 8:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...