Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    MSP पर खरीफ फसलों की बंपर खरीद, 20 लाख से अधिक किसानों को मिला सीधा फायदा

    एमएसपी पर अब तक खरीदे गए धान में से 70 फीसदी सिर्फ पंजाब से खरीदा गया है.
    एमएसपी पर अब तक खरीदे गए धान में से 70 फीसदी सिर्फ पंजाब से खरीदा गया है.

    कृषि मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, खरीफ मार्केटिंग सीजन 2020-21 के लिए पंजाब, हरियाणा सहित कई राज्यों में धान की खरीद बहुत अच्छी गति से चल रही है. एमएसपी पर अब तक कुल 243.13 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद की जा चुकी है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 7, 2020, 6:25 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. नए कृषि कानूनों (New Farm Law) को लेकर पंजाब के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन जारी है. इससे पंजाब (Punjab) के लिए और पंजाब से होकर जाने वाली ट्रेनों का संचालन पूरी तरह ठप पड़ा है. वहीं, प्रदेश में किसानोंं से न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (MSP) पर फसलों की जबरदस्त खरीद की जा रही है. कृषि मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, खरीफ मार्केटिंग सीजन 2020-21 के लिए पंजाब, हरियाणा (Haryana) सहित कई राज्यों में धान की खरीद बहुत अच्छी चल रही है. अब तक कुल 243.13 लाख मी‍ट्रिक टन (MT) धान की खरीद की जा चुकी है.

    पंजाब से ही 70 फीसदी से अधिक धान की खरीद की गई
    देशभर में 6 नवंबर तक किसानों से एमएसपी पर कुल 243.13 लाख एमटी धान की खरीद की गई. पिछले साल के मुकाबले यह 19.42 फीसदी अधिक है. पिछले साल किसानों से  203.60 लाख एमटी धान की खरीद की गई थी. 243.13 लाख एमटी धान में से 70.37 फीसदी यानि 171.09 लाख एमटी धान की खरीद अकेले पंजाब के किसानों से की गई है. पंजाब के अलावा हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, यूपी, तमिलनाडु, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, चंडीगढ़, गुजरात और केरल के किसानों से भी एमएसपी पर धान की खरीद की गई है. केंद्र सरकार ने जानकारी दी है कि धान की खरीद के लिए 2,051,909 लाख किसानों को 45902.32 करोड़ रुपये मूल्य चुकाया जा चुका है.

    ये भी पढ़ें- Good News: कारोबारी गतिविधियों में सुधार के साथ कंपनियां वापस ले रहीं वेतन कटौती, अब इन कंपनियों ने दिया बोनस
    इन फसलों की भी एमएसपी पर खरीदी की जा रही है


    केंद्र सरकार ने अपनी नोडल एजेंसियों के जरिये तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान और हरियाणा से 6 नवंबर तक 171.25 करोड़ रुपये के मूल्य के 31927.09 एमटी मूंग, उड़द, ग्राउंड नट्स पोड्स और सोयाबीन की खरीद की है. इससे कुल 18886 किसानों को सीधे फायदा मिला है. इसी तरह कर्नाटक और तमिलनाडु के 3961 किसानों से 52.40 करोड़ रुपये के मूल्य का 5089 एमटी कोपरा की खरीद की जा चुकी है.

    राज्यों से मिले प्रस्तावों के मुताबिक तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान और आंध्र प्रदेश से प्राइस स्पोर्ट स्कीम के तहत खरीफ मार्केंटिंग सीजन के लिए 45.10 लाख एमटी दाल और ऑयल शीड की खरीदारी की मंजूरी दी गई है. इसके अलावा आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और केरल से 1.23 लाख एमटी कोपरा (सूखा नारियल) की खरीद की भी मंजूरी दी जा चुकी है. राज्यों से प्रस्ताव आने के बाद और अधिक दालें, ऑयलशीड और कोपरा की खरीद की जाएगी.

    ये भी पढ़ें- RBI के आंकड़ों से अच्‍छे संकेत! अक्‍टूबर 2020 में बैंकों के कर्ज और डिपॉजिट में हुई बढ़ोतरी

    इन राज्यों से कपास की खरीदारी जारी है
    एमएसपी व्यवस्था के तहत पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, तेलंगाना और मध्य प्रदेश राज्यों से कपास की खरीद की जा रही है. ताजा आंकड़ों के मुताबिक 6 नवंबर तक 190910 किसानों से 2869.25 लाख रुपये के मूल्य का 988719 बेल्स कपास की खरीदारी की जा चुकी है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज