होम /न्यूज /व्यवसाय /

इस बिजनेस को एक लाख रुपए से शुरू कर हर महीने 5 लाख रु. तक कमा सकते हैं, क्या है कारोबार और कैसे करें स्टार्ट?

इस बिजनेस को एक लाख रुपए से शुरू कर हर महीने 5 लाख रु. तक कमा सकते हैं, क्या है कारोबार और कैसे करें स्टार्ट?

  business idea

business idea

नौकरीपेशा लोग अपना कुछ काम खड़ा करने की सोच के तहत कई नए-नए आईडिया पर काम कर रहे हैं. अगर आप भी अपना कोई काम शुरू करने का सोच रहे हैं तो हम आपको एक कारोबार (Business Idea) के बारे में बता रहे हैं. इस कारोबार से आप आत्मनिर्भर भी बनेंगे और पैसा भी कमाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. कोरोना काल के बाद ज्यादातर लोग अपने बिजनेस के बारे में सोच रहे हैं. खासतौर से नौकरीपेशा लोग अपना कुछ काम खड़ा करने की सोच के तहत कई नए-नए आईडिया पर काम कर रहे हैं. अगर आप भी अपना कोई काम शुरू करने का सोच रहे हैं तो हम आपको एक कारोबार (Business Idea) के बारे में बता रहे हैं.

    जहां आप कम पैसे (Business at small level investment) खर्च करके मोटी कमाई (How to earn money) कर सकते हैं. इसके लिए सबसे अच्छा आइडिया है- खीरे की खेती (Cucumber Farming). इससे आपको कम समय में अधिक पैसे कमाने का मौका (earning money) मिल जाएगा.

    गर्मी के मौसम में होती है खीरे की फसल
    बता दें कि इस फसल का समय चक्र 60 से 80 दिनों में पूरा होता है. वैसे तो खीरा गर्मी के मौसम में होता है. परंतु वर्षा ऋतु में खीरे की फसल अधिक होती है. खीरे की खेती सभी प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है. खीरा की खेती के लिए भूमि का पी.एच. 5.5 से 6.8 तक अच्छा माना गया है. खीरे की खेती नदियों-तालाब के किनारे भी की जा सकती है. तो आइए जानते हैं खीरे की खेती का कारोबार कैसे करें?

    यह भी पढ़ें- HDFC सिक्योरिटीज ने इस बैंकिंग स्टॉक को साल 2022 के लिए चुना टॉप पिक, जानिए कारण

    सरकार से मिलती है सब्सिडी 
    यूपी के एक किसान दुर्गाप्रसाद जो कि खीरे की खेती करके लाखों में कमा रहे हैं. वे कहते हैं खेती में मुनाफा कमाने के लिए अपने खेतों में खीरे की बुआई की और मात्र 4 महीने में 8 लाख रुपए कमाए है. इन्होंने अपने खेतो में नीदरलैंड के खीरे कि बुआई की थी. दुर्गाप्रसाद के मुताबिक, नीदरलैंड से इस प्रजाती खीरे के बीज मागवाकर बुआई करने वाले पहले किसान है.

    इसमें खास बात यह कि इस प्रजाती के खीरो मे बीज नहीं होते है. जिसकी वजह से खीरे कि मांग बड़े-बड़े होटलों और रेस्त्रां खूब रहती है. दुर्गाप्रसाद बताते है कि वें उद्यान विभाग से 18 लाख रुपए की सब्सिडी लेकर खेत में ही सेडनेट हाउस बनवाया था. सब्सिडी लेने के बाद भी खुद से 6 लाख रुपए खर्च करने पड़े थे. इसके आलवा उन्होंने नीदरलैंड से 72 हजार रुपए के बीज मंगवाए. बीज बोने के 4 महीने बाद उन्होंने 8 लाख रुपए के खीरे बेचे.

    क्यों डिमांड में है यह कारोबार
    इस खीरे की खासियत कि इसकी कीमत आम खीरो के मुकाबले दो गुनी तक होती है. जहां देसी खीरा 20 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रहा है वहीं नीदरलैंड के बीज वाला यह खीरा 40 से 45 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रहा है. हालांकि, सभी तरह के खीरों की सालभर डिमांड रहती है. मार्केटिंग के लिए आप सोशल मीडिया का सहारा ले सकते हैं.

    Tags: Business, Business ideas, Business loan, Business opportunities

    अगली ख़बर