• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • मोदी सरकार के साथ मिलकर शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगा मोटा मुनाफा

मोदी सरकार के साथ मिलकर शुरू करें ये बिजनेस, हर महीने होगा मोटा मुनाफा

 रिजर्व बैंक ने बैंकों को निर्देश भी दिया

रिजर्व बैंक ने बैंकों को निर्देश भी दिया

इस बिजनेस की सबसे बड़ी खासियत ये है कि मोदी सरकार इसे खोलने के लिए 2.50 लाख रुपये की मदद देती है. साथ ही हर महीने की बिक्री पर अलग से 15 फीसदी इंसेंटिव भी मिलता है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. अगर आप लोगों की मदद के साथ खुद का बिजनेस (Business) शुरू करना चाहते हैं तो आपके लिए यह बेहतर मौका साबित हो सकता है. आप केंद्र सरकार की मदद से जनऔषधि केंद्र (Janaushadhi kendra) खोल सकते हैं. इस बिजनेस की सबसे बड़ी खासियत है कि मोदी सरकार (Modi Government) इसे खोलने के लिए 2.50 लाख रुपये की मदद भी देती है. फिलहाल देश भर में अब तक 5500 से ज्यादा जनऔषधि केंद्र खुल चुके हैं.

    कितना होगा फायदा
    जनऔषधि केंद्र से दवा बेचने वाले को 20 फीसदी मार्जिन के अलावा हर महीने की बिक्री पर अलग से 15 फीसदी इंसेंटिव मिलेगा. इंसेंटिव की अधिकतम सीमा 10 हजार रुपये प्रति माह होगी. सरकार की योजना के अनुसार, इंसेंटिव तब तक दिया जाए, जब तक कि 2.50 लाख रुपये पूरे न हो जाएं. जनऔषधि केंद्र खोलने में भी तकरीबन 2.50 लाख रुपये का खर्च आता है. इस तरह यह पूरा खर्च सरकार खुद उठा रही है.

    ये भी पढ़ें: 60 हजार में शुरू करें नए जमाने का ये बिजनेस, हर महीने लाखों में कमाने का मौका



    कौन खोल सकता है जनऔषधि केंद्र
    सरकार ने जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए 3 तरह की कैटेगरी बनाई है. पहली कैटेगरी के तहत कोई भी व्यक्ति, बेरोजगार फार्मासिस्ट, डॉक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर केंद्र खोल सकता है. दूसरी कैटेगरी के तहत ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप को जनऔषधि केंद्र खोलने का अवसर मिलेगा. तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों की ओर से नॉमिनेट की गई एजेंसी होगी. प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए 120 वर्गफुट एरिया में दुकान होनी जरूरी है. केंद्र खोलने वालों को सरकार की ओर से 900 दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी.

    कैसे होगी कमाई
    जनऔषधि केंद्र के जरिए महीने में जितनी दवाओं की बिक्री होगी, उसका 20 फीसदी कमिशन के रूप में मिलेगा. इस लिहाज से अगर आपने महीने में 1 लाख रुपये की भी बिक्री की तो आपको उस महीने 20 हजार रुपये की इनकम हो जाएगी. ये भी पढ़ें: 50 हजार रुपये लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, मोदी सरकार दे रही कमाने का मौका



    आवेदन के लिए क्या है जरूरी?
    जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए आपके पास रिटेल ड्रग सेल्स का लाइसेंस जन औषधि केंद्र के नाम से होना चाहिए. आवेदन करने के लिए आधार कार्ड एवं पैन कार्ड की जरूरत होगी. वहीं, संस्थान, एनजीओ, हॉस्पिटल, चैरिटेबल संस्था को आवेदन करने के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, पंजीयन प्रमाण पत्र देना होगा.

    कैसे करें अप्लाई?
    जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए आप http://janaushadhi.gov.in पर जाकर फार्म डाउनलोड कर सकते हैं. आवेदन को ब्यूरो ऑफ फॉर्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ऑफ इंडिया (BPPI) के जनरल मैनेजर (A&F)के नाम से भेजना होगा. ब्यूरो ऑफ फॉर्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ऑफ इंडिया का एड्रेस जनऔषधि की वेबसाइट पर और भी जानकारी उपलब्ध है. जनऔषधि केंद्र के लिए ऑनलाइन आवेदन भी किया जा सकता है. सबसे आपको वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फार्म भरना होगा. इसके बाद जरूरी दस्तावेज अपलोड कर अपना फार्म सबमिट कर सकते हैं.

    ये भी पढ़ें: 1 जनवरी से बदलने वाला है सोने के गहने खरीदने से जुड़ा ये नियम, सरकार ने दी मंजूरी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज