होम /न्यूज /व्यवसाय /सिर्फ 10 हजार खर्च करके शुरू करें बिजनेस, हर महीने हो जाएगी 50 हजार तक की इनकम

सिर्फ 10 हजार खर्च करके शुरू करें बिजनेस, हर महीने हो जाएगी 50 हजार तक की इनकम

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

क्या आप कोई बिजनेस शुरू करने का प्लान बना रहे हैं तो अब हम आपको एक ऐसे बिजनेस के बारे में बताएंगे, जिसको आप आसानी से शु ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली: क्या आप कोई बिजनेस शुरू करने का प्लान बना रहे हैं तो अब हम आपको एक ऐसे बिजनेस के बारे में बताएंगे, जिसको आप आसानी से शुरू कर सकते हैं. आपको बता दें जबसे नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू किया है, तब से प्रदूषण जांच केंद्र (Pollution Testing Center) का बिजनेस काफी तेजी से बढ़ा है. इस सर्टिफिकेट के नहीं होने पर आपको 10 हजार रुपए जुर्माना देना पड़ता है. इस वजह से तेजी से लोग ये प्रदूषण सर्टिफिकेट बनवा रहे हैं...ऐसे में आप प्रदूषण जांच केंद्र खोलकर अच्छी कमाई कर सकते हैं.

    पहले ही दिन से कर सकते हैं कमाई
    आप इस बिजनेस को कम लागत में शुरू कर सकते हैं. इसके साथ ही इसमें पहले ही दिन से आपकी कमाई शुरू हो जाती है. एक अनुमान के तौर पर इससे रोजाना 1-2 हजार रुपए कमाए जा सकते हैं. मतलब महीने में आप 30 हजार से 50 हजार रुपए तक कमा सकते हैं.

    यह भी पढ़ें: Amazon के साथ पैसे कमाने का मौका, सिर्फ 4 घंटे काम करें और कमाएं 70 हजार रुपए महीना

    कैसे शुरू कर सकते हैं ये बिजनेस
    >> इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले रिजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिसर (RTO) से लाइसेंस लेना होगा.
    >> नजदीकी आरटीओ ऑफिस में इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं.
    >> प्रदूषण जांच केंद्र कहीं भी पेट्रोल पंप, ऑटोमोबाइल वर्कशॉप के आसपास खोला जा सकता है.
    >> आवेदन करने के साथ ही 10 रुपए का एफिडेविट देना होगा.
    >> एफिडेविट में टर्म एंड कंडीशन भी लिखनी होती हैं.
    >> लोकल अथॉरिटी से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लेना होगा.
    >> प्रदूषण जांच केंद्र की हर राज्य में अगल-अलग फीस है.
    >> कुछ राज्यों में ऑनलाइन अप्लाई करने की भी सुविधा है.
    >> ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए https://vahan.parivahan.gov.in/puc/ पर जाकर रजिस्टर करना होगा.

    कहां कितनी फीस
    दिल्ली-NCR
    एप्लीकेशन फीस- 5000 रुपए (सिक्योरिटी डिपॉजिट)
    सालाना फीस- 5000 रुपए
    कुल - 10000 रुपए

    इन बातों का भी रखें ध्यान
    >> आपको बता दें प्रदूषण जांच केंद्र को गाड़ी के पॉल्यूशन चेक पर प्रिंटेड सर्टिफिकेट देना होगा.
    >> इस सर्टिफिकेट में सरकारी स्टीकर होना जरूरी है. इसके बिना ये मान्य नहीं माना जाएगा.
    >> प्रदूषण जांच केंद्र को सभी गाड़ियों की डिटेल्स एक साल तक अपने सिस्टम में रखना जरूरी है.
    >> PUC का लाइसेंस जिसके नाम पर है, सिर्फ उसी व्यक्ति के पास इसे ऑपरेट करने का अधिकार होगा.
    >> इसके अलावा किसी और के ऑपरेट करने पर कार्रवाई की जा सकती है.

    यह भी पढ़ें: LIC की इस पॉलिसी से होगी जिंदगी भर कमाई, जानिए इसके बारे में सबकुछ

    केंद्र खोलने के लिए क्या चाहिए?
    प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए सबसे जरूरी कंप्यूटर, USB वेब कैमरा, इंकजेट प्रिंटर, पावर सप्लाई, इंटरनेट कनेक्शन, स्मोक एनालाइजर है. यह सभी लाइसेंस फीस से अलग खर्च में जोड़ा जाता है.

    Tags: Business news in hindi, How to earn money

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें