Home /News /business /

2 लाख रुपये लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, ₹14 लाख तक की होगी कमाई, जानिए क्या करना होगा?

2 लाख रुपये लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, ₹14 लाख तक की होगी कमाई, जानिए क्या करना होगा?

आज हम आपको एक शानदार बिजनेस प्लान के बारे में बता रहे हैं. इस कारोबार में आपको छह महीने बाद से ही मोटी कमाई होने लगेगी.

आज हम आपको एक शानदार बिजनेस प्लान के बारे में बता रहे हैं. इस कारोबार में आपको छह महीने बाद से ही मोटी कमाई होने लगेगी.

आज हम आपको एक शानदार बिजनेस प्लान के बारे में बता रहे हैं. इस कारोबार में आपको छह महीने बाद से ही मोटी कमाई होने लगेगी.

    नई दिल्ली. अगर आप अपनी रोजाना 9 से 5 की नौकरी से तंग आ चुके हैं तो आप नौकरी छोड़ अपना कारोबार शुरू कर सकते हैं. आज हम आपको एक शानदार बिजनेस प्लान (profitable business idea) के बारे में बता रहे हैं. जिसे आप कम से कम पैसे लगाकर शुरू कर सकेंगे और हर महीने लाखों की रकम कमा (earn money) सकेंगे. आज हम आपको हल्दी की खेती (turmeric Cultivation)के बारे में बता रहे हैं जिसे आप कम लागत में शुरू करके छह महीने बाद ही कमाई शुरू हो जाएगी. आइए जानते हैं इसके बारे में सबकुछ…

    बेहद फायदेमंद है हल्दी की खेती (Turmeric Farming)
    मसाला फसलों में हल्दी का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है. इसका इस्तेमाल भोजन से लेकर मांगलिक कार्यों में होता है. वहीं काली हल्दी का उपयोग तांत्रिक प्रयोगों में किया जाता है. इसके अलावा हल्दी में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जिससे इसका प्रयोग घरेलू रोगोपचार में भी किया जाता है. इसका यदि व्यावसायिक रूप से इसका उत्पादन किया जाए तो हल्दी की फसल से अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है. इसमें सबसे खास बात यह है कि हल्दी की खेती से आपको छह महीने बाद ही मोटी कमाई होने लगेगी, क्योंकि हल्दी की खेती मात्र छह महीनों की होती है.

    ये भी पढ़ें-  Bank Holidays: इस सप्ताह 4 दिन बंद रहेंगे बैंक, फटाफट निपटा लें काम, यहां देखें छुट्टियों की पूरी लिस्ट

    कैसे करें हल्दी की खेती (How to start turmeric farming)
    हल्दी की उन्नत किस्मों में पूना, सोनिया, गौतम, रशिम, सुरोमा, रोमा, कृष्णा, गुन्टूर, मेघा, सुकर्ण, सुगंधन और सीओ-एक किस्में शामिल है. काली हल्दी का पौधा केली के समान होता है. काली हल्दी या नरकचूर एक औषधीय महत्व का पौधा है. हल्दी खेती समुद्र टल से 1500 मीटर तक ऊंचाई वाले विभिन्न ट्रोपिकल क्षेत्रों में की जाती है. सिंचाई आधारित खेती करते समय वहां का तापमान 20- 35 डिग्री सेन्टीग्रेट और वार्षिक वर्षा 1500 मीटर मीटर या अधिक होनी चाहिए.

    हल्दी की खेती

    इसकी खेती विभिन्न प्रकार की मिट्टी जैसे रेतीली, मटियार, दुमट मिटटी में की जाती है.मिट्टी का पी.एच. मान 4.5 से 7.5 होना चाहिए.इसकी बवाई के लिए खेत को अच्छी तरह से तैयार करना जरूरी है. इसके लिए खेत की अच्छी तरह से जुताई कर मिट्टी को भुरभुरा बना लेना चाहिए. हल्दी की फसल को सिंचाई की जल्दा आवश्यकता नहीं पड़ती है. यदि गर्मी में इसकी बुवाई की जाती है तो मानसून आने से पहले इसकी सिंचाई करना जरूरी है.

    कैसे होगी लाखों में कमाई 
    वैज्ञानिकों ने एक हल्दी की किस्म विकसित की है. किस्म का नाम है, प्रतिभा. वैसे तो हल्दी में सड़न की समस्या अधिकतर आती है. लेकिन प्रतिभा किस्म इस मामले में कमाल की है, इस किस्म की सड़न वाली समस्या न के बराबर है. यहीं वजह है कि कुछ किसान 2 लाख रुपए खर्च कर के इस किस्म की खेती से 14 लाख रुपए कमा रहे हैं.

    ये भी पढ़ें- LIC: बंद पड़ी पुरानी पॉलिसी को फिर से करें चालू, एलआईसी दे रही शानदार मौका, फटाफट चेक करें डिटेल

    डीडी किसान की रिपोर्ट के मुताबिक, विजयवाड़ा इलाके में इस किस्म की बुवाई करके किसान हर महीने लाखों में कमा रहे हैं. यहां किसान चंद्रशेखर आजाद 2 लाख रुपए लगाकर हल्दी की प्रतिभा किस्म की खेती से 14 लाख रुपए कमा रहे हैं. प्रतिभा किस्म की खेती से हुई इस जबरदस्त कमाई से ही चंद्रशेखर आजाद को आंध्र प्रदेश में हल्दी की खेती का उन्हें ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है. दरअसल, विजयवाड़ा में हल्दी प्रमुख फसलों में गिनी जाती है और यहां के किसान इसकी जमकर खेती करते हैं.

    Tags: Business ideas, Business news in hindi, Earn money, How to earn money, New Business Idea

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर