कैबिनेट ने सिंगल ब्रांड रिटेल और कोल माइनिंग में 100% विदेशी निवेश की दी इजाजत

News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 9:47 PM IST
कैबिनेट ने सिंगल ब्रांड रिटेल और कोल माइनिंग में 100% विदेशी निवेश की दी इजाजत
सिंगल ब्रांड रिटेल और कोल माइनिंग में 100% FDI की मंजूरी

कैबिनेट (Cabinet) की बुधवार को हुई बैठक में सिंगल ब्रांड रिटेल (Single Brand Retail) के साथ कोल माइनिंग (Coal Mining) और कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग (Contract Manufacturing) में 100 फीसदी FDI की मंजूरी मिली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2019, 9:47 PM IST
  • Share this:
मोदी सरकार (Modi Government) के कैबिनेट (Cabinet) की बुधवार को हुई बैठक में सिंगल ब्रांड रिटेल (Single Brand Retail) के साथ कोल माइनिंग (Coal Mining) और कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग (Contract Manufacturing) में 100 फीसदी फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट (FDI) की मंजूरी दी गई है. कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्टर पीयूष गोयल ने कैबिनेट बैठक के बाद यह जानकारी दी.

सिंगल ब्रांड रिटेल में FDI की शर्तों में ढील
सिंगल ब्रांड रिटेल में सरकार ने 100 फीसदी FDI की मंजूरी दी है. FDI वाले सिंगल ब्रांड रिटेल स्टोर हैं तो वो फिजिकल स्टोर खोलने से पहले ऑनलाइन स्टोर खोल सकते हैं. उन स्टोर में भारत से सामान खरीदने की जो शर्त है, उन शर्तों में ढील दी गई है. FDI वाले सिंगल ब्रांड रिटेल स्टोर के लिए 30 फीसदी सामान भारत से खरीदने की शर्तों में ढील मिली. स्टोर खोलने से पहले अगर सामान खरीदता है तो उस भी 30 फीसदी में जोड़ा जाएगा. इसमें पुराने कॉन्ट्रैक्ट शामिल है.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने गन्ना किसानों को दिया बड़ा तोहफा, 60 लाख टन चीनी एक्सपोर्ट को दी मंजूरी



कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग में 100% FDI की अनुमति दी
कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्टर पीयूष गोयल ने कहा, 'कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग 100 फीसदी ऑटोमैटिक रूट से एफडीआई की अनुमति दी गई है. अभी तक जो कंपनी खुद मैन्युफैक्चरिंग करती थी, उसको 100 फीसदी एफडीआई की अनुमति थी. लेकिन वो थर्ड पार्टी से कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग कराती थी, तो उसकी अनुमति नहीं थी.' उन्होंने कहा, 'अब छोटा, बड़ा कोई कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर हो, उसमें भी 100 फीसदी एफडीआई ऑटोमेटिक रूट से अनुमति दी जाएगी.'
Loading...



कोल माइनिंग में 100 फीसदी FDI की छूट
पीयूष गोयल ने कहा कि कोल माइनिंग से जुड़ी एक्टिविटी में 100 फीसदी FDI की छूट का फैसला लिया गया है. अभी सिर्फ कैप्टिव कोल माइनिंग में FDI​ की छूट है. प्रोसेसिंग के एसोसिएटेड इंफ्रास्ट्रक्चर जिसमें कोल वॉशिंग, क्रशिंग, कोयला हैंडलिंग, सप्रेशन, इन सभी एक्टिविटी में 100 फीसदी एफडीआई की मंजूरी दी गई है.

ये भी पढ़ें: कैबिनेट: 24,375 करोड़ के निवेश से 75 नए मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 8:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...