Home /News /business /

Yes Bank के प्लान को कैबिनेट ने दी मंजूरी, SBI लगाएगा 7250 करोड़ रुपये

Yes Bank के प्लान को कैबिनेट ने दी मंजूरी, SBI लगाएगा 7250 करोड़ रुपये

कैबिनेट ने दी Yes Bank के प्लान को मंजूरी

कैबिनेट ने दी Yes Bank के प्लान को मंजूरी

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) को संकट-ग्रसित यस बैंक में 7,250 करोड़ रुपये लगाने की मंजूरी मिल गयी है.

    नई दिल्ली. भारतीय स्टेट बैंक (SBI) को संकट-ग्रसित यस बैंक में 7,250 करोड़ रुपये लगाने की मंजूरी मिल गयी है. देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने कल इसकी जानकारी दी थी. एसबीआई ने बीएसई को बताया, केंद्रीय बोर्ड की कार्यकारी समिति की 11 मार्च को हुई बैठक में 10 रुपये प्रति शेयर की दर से यस बैंक के 725 करोड़ शेयर खरीदने को मंजूरी दी गयी. अभी इस सौदे को नियामकीय मंजूरियां मिलनी शेष हैं. इस सौदे के बाद यस बैंक में एसबीआई की हिस्सेदारी उसकी कुल भुगता पूंजी के 49 प्रतिशत से ऊपर नहीं जाएगी. रिजर्व बैंक ने यस बैंक की Restructuring को लेकर पिछले सप्ताह एक योजना के मसौदे की घोषणा की थी.



    RBI के प्लान की प्रमुख बातें—
    1. RBI ने कहा है कि यस बैंक में निवेश के ​लिए SBI ने इच्छा जाहिर की है. SBI इस बैंक के रिकन्स्ट्रक्शन में भी हिस्सा लेगी.

    ये भी पढ़ें: घर के हर बालिग को मिलेंगे पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के 6000 रु! जानें कैसे

    2. पुर्नगठित यस बैंक के सभी कर्मचारियों को मौजूदा पे स्केल पर ही सैलरी मिलेगी. यह व्यवस्था कर्मचारियों को अगले 1 साल के ​लिए ही रहेगी.

    3. पुर्नगठित बैंक के अथॉराइज्ड कैपिटल को बदलकर 5 हजार करोड़ रुपये कर दिया जाएगा. साथ ही, 2 रुपये प्रति शेयर के भाव से 24 हजार करोड़ रुपये के इक्विटी शेयर में भी बदलाव किया जाए. इसके बाद यह रकम 48 हजार करोड़ रुपये की होगी.

    4. यह प्रस्ताव लाया गया है नए बैंक में निवेश करने वाला बैंक अपने हिस्सेदारी को 26 फीसदी से कम नहीं करेगा. इन्फ्युजन की तारीख से अगले 3 साल के लिए यह अनिवार्यता होगी.

    5. इन्वेस्टर बैंक पुर्नगठित किए गए नए बैंक के ​इक्विटी में अपनी हिस्सेदारी को तब तक बढ़ा सकता है, जब तक की यह 49 फीसदी नहीं हो जाए. इसके लिए प्रति शेयर का भाव 10 रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए. 2 रुपये प्रति फेस वैल्यु और 8 रुपये प्रीमियम प्राइस से अधिक नहीं होना चाहिए.

    ये भी पढ़ें: नौकरीपेशा लोगों को सरकार का तोहफा! TDS को लेकर लिया बड़ा फैसला

    6. पुर्नगठित बैंक के लिए नए बोर्ड का गठन किया जाएगा.

    7. इस प्लान में प्रस्ताव है कि पुर्नगठित बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के पास इस बात की अनुमति होगी कि वो प्रमुख प्रबंधकीय कार्मिकों द्वारा लिए गए फैसले को सही प्रक्रिया के तहत पलटा जा सकता है.

    8. नए बोर्ड में इन्वेस्टर बैंक के 2 नॉमिनी डायरेक्टर्स होंगे.

    9. RBI अतिरिक्त डायरेक्टर्स की भी नियुक्ति कर सकता है. यस बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स पर निर्भर करेगा कि वो नए निदेशेकों को जोड़ें.

    10. नई ऑफिस और ब्रांच खोलने या फिर मौजूदा ब्रांचेंज व ऑफिसों को बंद करने का फैसला पुनर्गठित बैंक ही लेगा. ये फैसले रिजर्व बैंक के नियमों के तहत ही लिया जाएगा.

    Tags: Bank rates, Yes Bank

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर