लाइव टीवी

कॉमर्शियल कोल माइनिंग को कैबिनेट ने दी मंजूरी, देश-विदेश की इन कंपनियों के पास मौका

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 5:33 PM IST
कॉमर्शियल कोल माइनिंग को कैबिनेट ने दी मंजूरी, देश-विदेश की इन कंपनियों के पास मौका
कोयला ब्लॉक्स की कॉमर्शियल माइनिंग को सरकार की मंजूरी

पिछले शनिवार को आर्थिक पैकेज (Economic Package 2.0) के ऐलान के बाद बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट ने कोयला के कॉमर्शियल माइनिंग (Commercial Mining of Coal) के लिए नीलामी प्रक्रिया को मंजूरी दे दी है. इसके साथ अब इस सेक्टर पर सरकार का वर्चस्व खत्म हो जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. बहुत जल्द ही देश में कोयला ब्लॉक्स की कॉमर्शियल माइनिंग (Commercial Mining of Coal) के लिए नीलामी प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी. बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता में केंद्रीय कै​बिनेट (Union Cabinet) ने इसकी मंजूरी दे दी है. इसके बाद अब कोयला खादानों पर सरकारी कंपनी कोल इंडिया का वर्चस्व खत्म हो जाएगा.

आर्थिक मामलों के कैबिनेट कमिटी ने कोयला और लिग्नाइट खादान की नीलामी प्रक्रिया को रेवेन्यू बेसिस पर मंजूरी दे दी है. इस प्रक्रिया के तहत बिडर्स के लिए रेवेन्यू में हिस्सेदारी ही पैरामीटर्स होगी यानी बिडर्स को ये बताना होगा कि वो अपने रेवेन्यू का कितना हिस्सा सरकार को देंगे.

सरकार ने क्या कहा?
केंद्र सरकार ने बुधवार को एक बयान में कहा, 'बिडर्स को ये बतना होगा कि वो केंद्र सरकार को अपने रेवेन्यू का कितना हिस्सा देंगे. रेवेन्यू शेयर का फ्लोर प्राइस 4 फीसदी होगा. ​बिडिंग को 10 फीसदी तक 0.5 फीसदी के मल्टीपल में एक्सेप्ट किया जाएगा. इसके बाद यह 0.25 फीसदी के मल्टीपल में होगा.'



यह भी पढ़ें: रिकॉर्ड गिरावट के बाद सोने की कीमतों में फिर से हुआ बड़ा बदलाव, चेक करें रेट्स



पिछले शनिवार को ही आर्थिक पैकेज के ऐलान के दौरान केंद्रीय ​वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने ऐलान किया था कि कोयला खादान सेक्टर में प्राइवेट पार्टिसिपेशन (Private Participation in Coal Sector) लाया जाएगा.

देश-विदेश की इन कंपनियों को मिलेगा मौका
कॉमर्शियल कोयला नीलामी के लिए आसान एंट्री और एग्जिट नियम बनाये जाएंगे. इससे हिंडाल्को, जिंदल स्टील एंड पावर, JSW एनर्जी, अडानी ग्रुप और वेदांता जैसी भारतीय कंपनियों के पास मौका है. हालांकि, वैश्विक माइनर्स जैसे Peabody, BHP Billiton और Rio Tinto भी​ बिडिंग प्रोसे में हिस्सा ले सकेंगे.

कोयला खादानों पर खत्म हो सरकार का वर्चस्व
वित्त मंत्री ने कहा था कि कोयला सेक्टर को कॉमर्शियल माइनिंग के लिए खोला जाएगा और सरकार के वर्चस्व को खत्म किया जाएगा. सरकार इस सेक्टर में प्रतिस्पर्धा और पारदर्शिता को ध्यान में रखते हुए प्राइवेट कंपनियों को मौका देगी कि वो ​रेवेन्यू शेयरिंग आधार पर इस सेक्टर के लिए काम करें. यह रेवेन्यू शेयरिंग बेसिस पर होग, न कि प्रति टन एक तय दर पर होगा. इसके तहत 50 नए कोयल ब्लॉक को कॉमर्शियल माइनिंग के लिए खोला जाएगा.

यह भी पढ़ें: 5 लाख रुपये वाली इस योजना के बारे में वायरल हो रही हैं फेक जानकारी, बचकर रहें!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 20, 2020, 5:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading