आईडीबीआई बैंक से बाहर निकलेगी सरकार और एलआईसी, कैबिनेट ने दी मंजूरी

IDBI में भारत सरकार का 45.48 फीसदी शेयर है, जबकि LIC का 49.24 प्रतिशत शेयर है

IDBI में भारत सरकार का 45.48 फीसदी शेयर है, जबकि LIC का 49.24 प्रतिशत शेयर है

एलआईसी (LIC), आईडीबीआई (IDBI) बैंक लिमिटेड में अपनी हिस्सेदारी डिसइन्वेस्टमेंट के जरिए घटा सकती है

  • Share this:

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की अध्यक्षता वाली आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (CCEA) ने बुधवार को आईडीबीआई (IDBI) बैंक लिमिटेड में रणनीतिक डिसइन्वेस्टमेंट और मैनेजमेंट के ट्रांसफर को मंजूरी दे दी है.

फरवरी में बजट भाषण के दौरान वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने IDBI बैंक के डिसइन्वेस्टमेंट की बात कही थी. वर्तमान समय में IDBI बैंक पर भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) का नियंत्रण है. भारत सरकार प्रोमोटर की भूमिका में है. सरकार द्वारा IDBI बैंक में कितनी हिस्सेदारी बेची जाएगी इसका फैसला LIC, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के साथ विचार विमर्श करके ट्रांजेक्शन की स्ट्रक्चरिंग के वक्त करेगी. IDBI (Industrial Development Bank of India) में भारत सरकार का 45.48 फीसदी शेयर है, जबकि LIC का 49.24 प्रतिशत शेयर है. अब सीसीईए (CCEA) ने बुधवार को इस मामले में सैद्धांतिक मंजूरी दी.

यह भी पढ़ें : Success Story : माता-पिता की देखभाल के लिए नौकरी छोड़ टीपीए बिजनेस किया, अब 3000 करोड़ का पोर्टफोलियो

एलआईसी के बोर्ड ने पास किया रिजॉल्यूशन
LIC के बोर्ड ने एक रिजॉल्यूशन पास किया है कि LIC, IDBI बैंक लिमिटेड में अपनी हिस्सेदारी डिसइन्वेस्टमेंट के जरिए घटा सकती है. साथ ही सरकार भी अपनी हिस्सेदारी रणनीतिक डिसइन्वेस्टमेंट के जरिए बेच सकती है. इस डिसइन्वेस्टमेंट के जरिए उम्मीद की जा रही है कि बैंक के पास नए फंड, टेक्नोलॉजी और मैनेंजमेंट आएगा, जिससे IDBI बैंक की ग्रोथ में भी तेजी आएगी.

यह भी पढें : नौकरी की बात : टेक्नोलॉजी की वजह से इन जगहों पर नौकरियों की भरमार, जानें सबकुछ 

डिसइन्वेस्टमेंट की रकम का इस्तेमाल डेवलपमेंटल प्रोग्राम्स के काम आएगा



बिना सरकार और LIC की मदद के भी बैंक और बिजनेस जरनेट कर सकेगा. सरकारी हिस्सेदारी के रणनीतिक डिसइन्वेस्टमेंट के जरिए आने वाली रकम का इस्तेमाल डेवलपमेंटल प्रोग्राम्स को फाइनेंस करने के लिए किया जाएगा. इस बीच मार्च क्वार्टर में बैंक ने 512 करोड़ का मुनाफा कमाया है. एक बार पहले इस क्वार्टर में बैंक ने 135 करोड़ रुपए कमाए थे.

यह भी पढ़ें : सालों में एक बार मिलता है मौका, पैसा कमाना चाहते हैं तो तुरंत करें यह काम

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज