अपना शहर चुनें

States

केंद्र ने बताया, रत्‍न-आभूषण क्षेत्र में 100% FDI की क्‍यों दी मंजूरी, देश का कुल निर्यात बढ़ाने के लिए बताया अहम

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि निर्यात बढ़ाने में रत्‍न व आभूषण क्षेत्र का बड़ा योगदान है.
केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि निर्यात बढ़ाने में रत्‍न व आभूषण क्षेत्र का बड़ा योगदान है.

वाणिज्य व उद्योग राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) ने कहा कि भारत के रत्‍न व आभूषण उद्योग (Gems & Jewelry Industry) का विदेशी मुद्रा हासिल करने में अहम योगदान है. सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए इस सेक्‍टर में बड़ी संभावनाएं देख रही है.

  • Last Updated: January 18, 2021, 6:43 PM IST
  • Share this:
मुंबई. वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Sing Puri) ने कहा कि भारत के रत्‍न और आभूषण उद्योग (Gems and Jewelry Industry) का विदेशी मुद्रा हासिल करने में अहम योगदान है. ऐसे में केंद्र सरकार निर्यात (Export) को बढ़ावा देने के लिए जेम्‍स एंड ज्‍वेलरी इंडस्‍ट्री को जबरदस्‍त संभावनाओं वाले क्षेत्र के तौर पर देख रही है. इस वजह से सरकार ने इस क्षेत्र में 100 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) की अनुमति दी है.

केंद्रीय मंत्री पुरी ने कहा कि देश हर साल 35 अरब डॉलर के रत्‍न व आभूषणों का निर्यात करता है. भारत दुनिया के सबसे बड़े निर्यातकों (Largest Exporter) में एक है और अमेरिका, हॉन्‍ग कॉन्‍ग, चीन, मध्य पूर्व, रूस जैसे शीर्ष बाजारों की मांग को पूरा करता है. उन्होंने रत्न और आभूषण निर्यात संवर्धन परिषद (GJEPC) की ओर से आयोजित पांच दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रत्‍न और आभूषण प्रदर्शनी के उद्घाटन के मौके पर कहा कि इस व्यापार मेले का आयोजन सही वक्त पर हो रहा है, क्योंकि कोविड-19 की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) आने के साथ ही सभी प्रमुख बाजारों में रत्‍न और आभूषणों की मांग (Demand of Gems and Jewelry) फिर बढ़ने लगी है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड की कीमतों में आई तेजी, चांदी भी हुई महंगी, फटाफट देखें नई कीमतें



जीजेईपीसी ने निर्यात 75 अरब डॉलर तक पहुंचाने का रखा है लक्ष्‍य 
जीजेईपीसी के चेयरमैन कॉलिन शाह ने कहा कि भारत पन्‍ना और मॉर्गेनाइट के बड़े विनिर्माण स्थल के तौर पर उभरा है. जीजेईपीसी ने पिछले कुछ वर्षों में चांदी की भारी मांग (Demand of Silver) भी देखी है. उन्होंने कहा कि परिषद ने अगले कुछ वर्षों में रत्‍न और आभूषणों के निर्यात को 35 अरब डॉलर से बढ़ाकर 75 अरब डॉलर तक ले जाने का लक्ष्य तय किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज