कॉफी डे इंटरप्राइजेज: फाउंडर का मिला शव, दूसरे दिन 20% टूटा शेयर, डूबे 2800 करोड़

कैफे कॉफी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव मिलने की खबर के बाद से ही कॉफी डे इंटरप्राइजेज का शेयर 20 फीसदी टूटकर 123.25 रुपये पर आ गया.

News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 11:55 AM IST
कॉफी डे इंटरप्राइजेज: फाउंडर का मिला शव, दूसरे दिन 20% टूटा शेयर, डूबे 2800 करोड़
CCD के शेयर में 20 फीसदी गिरावट आई
News18Hindi
Updated: July 31, 2019, 11:55 AM IST
कैफे कॉफी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव मिलने की खबर के बाद से ही कॉफी डे इंटरप्राइजेज का शेयर 20 फीसदी टूटकर 123.25 रुपये पर आ गया. इसके पहले मंगलवार को भी सिद्धार्थ के लापता होने की खबर से शेयर में 20 फीसदी गिरावट आई थी और यह 154.05 रुपये पर आ गया था, जो 52 हफ्तों का सबसे निचला स्तर था. बता दें कि वीजी सिद्धार्थ कारोबार से जुड़ी मुश्किलों से परेशान थे. इस बारे में उन्होंने कंपनी के कर्मचारियों और बोर्ड को एक लेटर भी लिखा है.

2 दिन में साफ हुए 2800 करोड़ -वीजी सिद्धार्थ के लापता होने की खबर के बाद आज लगातार दूसरे दिन शेयर में 20 फीसदी गिरावट आई है. कॉफी डे इंटरप्राइजेज का शेयर सोमवार को 192.55 रुपये के भाव पर बंद हुआ था. वहीं आज यह 123.25 रुपये पर आ गया. फिलहाल 2 दिन में कंपनी के मार्केट कैप में 2839 करोड़ की गिरावट आ गई है. सोमवार को कंपनी का मार्केट कैप 5442.55 करोड़ रुपये था, जो बुधवार को 2603.68 करोड़ रुपये रह गया.

ये भी पढ़ें: जल्द पेटीएम से मिलेगा घर बैठे पैसे कमाने का मौका

घाटे में चल रही है कंपनी-कारोबार में घाटे से परेशान थे वीजी सिद्धार्थ. ‘कैफे कॉफी डे’ लंबे समय से घाटे में चल रही है. उन्होंने कंपनी के कर्मचारियों और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर को इस बारे में एक लेटर भी लिखा है, जिसमें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट पर प्रताड़ना का आरोप भी लगाया है. फिलहाल आशंका जताई जा रही थी कि कारोबार से जुड़ी परेशानियों के चलते ही उन्होंने आत्महत्या की होगी. उन पर सितंबर 2017 से ही अघोषित संपत्ति रखने के मामले में जांच चल रही थी.

लेटर में वीजी सिद्धार्थ ने ये लिखा था-वीजी सिद्धार्थ ने इस चिट्ठी में लिखा है कि मैंने बहुत संघर्ष किया और इस दौरान अपनी कंपनी और सब्सिडियरी कंपनी में 30 हजार नौकरियां दीं. लेकिन एक इक्विटी पार्टनर के दबाव को और बर्दाश्त नहीं कर सकता. वह मुझ पर लगातार उन शेयरों को बायबैक करने के लिए दबाव बना रहे हैं, जिसका ट्रांजैक्शन मैंने आंशिक रूप से छह महीने पहले एक दोस्त के साथ पूंजी इकट्ठा करने के लिए किया था. उन्होंने कहा कि मैंने लंबे समय तक अपनी कंपनी को मुनाफे में लाने का प्रयास किया, लेकिन इसमें फेल रहा. इसलिए मैं उन सभी लोगों से माफी मांगता हूं, जिन्होंने मुझ पर भरोसा जताया.

ये भी पढ़ें: सिद्धार्थ ने 5 लाख में शुरू की थी CCD, आज 4000 करोड़ की कंपनी
First published: July 31, 2019, 11:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...