लाइव टीवी
Elec-widget

बीते 10 साल में रेलवे की हालत हुई बेहद ख़राब, 100 कमाने के लिए 98 खर्च कर रही है: कैग रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: December 2, 2019, 7:37 PM IST
बीते 10 साल में रेलवे की हालत हुई बेहद ख़राब, 100 कमाने के लिए 98 खर्च कर रही है: कैग रिपोर्ट
भारतीय रेल

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) की एक रिपोर्ट से पता चला है कि पिछले वित्त वर्ष में भारतीय रेल (Indian Rail) की कमाई का अनुपात बेहद कम है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2019, 7:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रेल (Indian Railway) का परिचालन अनुपात (Operating Ratio) वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 प्रतिशत दर्ज किया गया जो पिछले 10 वर्षो में सबसे खराब है. नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (Comptroller and Auditor General of India) की रिपोर्ट से बात सामने आई है. रेलवे में इस परिचालन अनुपात का तात्पर्य यह है कि रेलवे ने 100 रूपये कमाने के लिये 98.44 रूपये व्यय किये.

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय रेल का परिचालन अनुपात वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 प्रतिशत रहने का मुख्य कारण पिछले वर्ष 7.63 प्रतिशत संचालन व्यय की तुलना में उच्च वृद्धि दर का 10.29 प्रतिशत होना है.

ये भी पढ़ें: खुशखबरी! अगले साल दुनियाभर में सबसे अधिक मिलेगी भारतीयों को सैलरी

वित्त वर्ष 2012-13 में सबसे बेहतर अनुपात

इसमें बताया गया है कि वित्त वर्ष 2008-09 में रेलवे का परिचालन अनुपात 90.48 प्रतिशत था जो 2009-10 में 95.28 प्रतिशत, 2010-11 में 94.59 प्रतिशत, 2011-12 में 94.85 प्रतिशत, 2012-13 में 90.19 प्रतिशत, 2013-14 में 93.6 प्रतिशत, 2014-15 में 91.25 प्रतिशत, 2015-16 में 90.49 प्रतिशत, 2016-17 में 96.5 प्रतिशत तथा 2017-18 में 98.44 प्रतिशत दर्ज किया गया.

कैग की रिपोर्ट में सिफारिश की गई है कि रेलवे को आंतरिक राजस्व बढ़ाने के लिए उपाय करने चाहिए ताकि सकल और अतिरिक्त बजटीय संसाधनों पर निर्भरता रोकी जा सके.

ये भी पढ़ें: इन दो वजहों से सोने की कीमतों में आई बड़ी गिरावट, जानें 10 ग्राम के रेट्स
Loading...

बाजार से प्राप्त निधियों का उपयोग करे रेलवे
इसमें सिफारिश की गई है कि चालू वित्त वर्ष के दौरान रेल द्वारा वहन किए गए पूंजीगत व्यय में कटौती हुई है. रेलवे पिछले दो वर्ष में आईबीआर-आईएफ के तहत जुटाए गए धन को खर्च नहीं कर सका. रिपोर्ट में कहा गया है कि रेलवे बाजार से प्राप्त निधियों का पूर्ण रूप से उपयोग करना सुनिश्चित करे.

(दीपाली नंदा, संवाददाता, CNBC आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 4:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...