7 करोड़ व्यापारियों का ऐलान: अब बिना मास्क नहीं मिलेगा सामान, दुकानों में एंट्री तक नहीं होगी

बिना मास्क सामान नहीं मिलेगा

बिना मास्क सामान नहीं मिलेगा

कोरोनावायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सख्त नियम अपनाने पर जोर दिया जा रहा है. मुंबई, दिल्ली समेत कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया. कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए अब व्यापारी संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स, कैट ने ग्राहकों के लिए सख्त नियम बनाए हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोनावायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सख्त नियम अपनाने पर जोर दिया जा रहा है. मुंबई, दिल्ली समेत कई शहरों में नाइट कर्फ्यू (night curfew) लगाया गया. कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए अब व्यापारी संगठन कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स, कैट (CAIT)ने ग्राहकों के लिए सख्त नियम बनाए हैं. CAIT ने अब ग्राहकों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया है. यानी अब अगर कोई ग्राहक बिना मास्क लगाए सामान खरीदने जाएंगे तो उन्हें सामान नहीं मिलेगा. यहां तक कि उन्हें दुकान में प्रवेश भी नहीं करने दिया जाएगा. बता दें कि कैट संगठन में देशभर में 7 करोड़ व्यापारी शामिल हैं.

सभी दुकानों में फ्लैक्स लगाना अनिवार्य किया गया

CAIT के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया ने बताया कि कोरोना संक्रमण की तेजी को देखते हुए व्यापारियों को सतर्कता और अनुशासन के साथ व्यापार करने को कहा गया है, इस के लिए लगातार व्यापारियों से संपर्क करके एवं सोशल मीडिया के माध्यम से समझाया जा रहा है. बाजार में जागरूकता लाने के लिए सभी दुकानों में फ्लैक्स लगाना अनिवार्य किया गया है.

CAIT no mask no entry
कैट ने कहा कि अब बिना मास्क दुकानों में एंट्री नहीं होगी

ये भी पढ़ें- भारत से पंगा लेना इमरान सरकार को पड़ा भारी! अब पाकिस्तानियों को चुकानी पड़ रही ये बड़ी कीमत

भुगतना पड़ सकता है लापरवाही का परिणाम

उन्होंने कहा कि हमारा यह कर्तव्य है कि हम अपने शहर को सुरक्षित रखें. इसके लिए सबसे पहले अपने स्वयं की कार्यप्रणाली में सुधार करें, अपने साथ काम में लगे कर्मचारी को कोरोना से बचाव के उपाय को कड़ाई से पालन करवाएं. साथ ही अपने ग्राहक को भी इसे पालन करने पर ही डील करें. ध्यान रहे दुकानदार, कर्मचारी और ग्राहक तीनों को कोरोना के बचाव के उपाय कड़ाई से अपनाने होंगे. किसी एक की लापरवाही का परिणाम सबको भुगतना पड़ सकता है. यदि व्यापार को सुरक्षित रखना है तो व्यापारी को सुरक्षित और जागरूक होना ही पड़ेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज