Delhi Lockdown: CAIT की मांग, 1 जून से मार्केट खोले दिल्ली सरकार

कैट ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन के कारण व्यापारी बुरी तौर पर प्रभवित हुए हैं . (File Pic)

ट्रेडर्स बॉडी कैट (CAIT) ने दिल्ली सरकार से आगामी 1 जून से दिल्ली के बाजारों और दुकानों को खोलने की मांग की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. कारोबारी समुदाय की संस्था कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स यानी कैट (CAIT) ने दिल्ली के उपराजयपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) से आगामी 1 जून से दिल्ली के बाजारों और दुकानों को खोलने की मांग की. दिल्ली के प्रमुख व्यापारी नेताओं की बैठक के बाद नेताओं ने कहा कि एक महीने से अधिक के समय से दिल्ली में लॉकडाउन (Lockdown) के कारण दुकानें एवं बाजारों के बंद होने से व्यापारी बुरी तौर पर प्रभवित हुए हैं जिसके कारण उन पर वित्तीय संकट काफी गहरा गया है, इसलिए अब जब कोरोना के मामले दिल्ली में काफी काबू में आ गए हैं, ऐसे में अब आगामी 31 मई या 1 जून से दिल्ली में बाजारों को खोला जाना बेहद जरूरी है.

    कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विपिन आहूजा ने बताया कि बैठक में शामिल सभी व्यापारियों ने कहा की कोविड के सभी सुरक्षा उपायों के अनिवार्य उपयोग के साथ आगामी 31 मई अथवा 1 जून से दिल्ली में बाजार खोले जाएं. दिल्ली में मुख्य रूप से दो तरह के थोक एवं रिटेल बाजार है और जिनके व्यापारिक स्वरुप को देखते हुए सरकार को यह प्रस्तावित किया जाए कि दिल्ली में थोक बाजार सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक और रिटेल बाजार दोपहर 12 बजे से रात्रि सात बजे तक खोले जाएं. वहीं, दूसरी ओर 1 जून से 7 जून तक दिल्ली में रात्रि 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाया जाए.

    ये भी पढ़ें- महंगाई! सरसों, सोयाबीन ने बिगा‌ड़ा रसोई का बजट, 11 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंची खाने के तेल की कीमतें

    खंडेलवाल और आहूजा ने कहा कि बैठक में यह भी तय किया गया कि सरकार से यह मांग भी की जाए कि रेहड़ी-पटरी आदि को दिल्ली सरकार तुरंत या तो हॉकिंग जोन में या अस्थायी तौर पर सरकारी स्कूलों के परिसर जो खाली पड़े हुए हैं, वहां भी लगा सकती है जिससे यह लोग भी अपना काम कर सकें और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन हो सके.

    कैट के प्रदेश महामंत्री देवराज बवेजा, आशीश ग्रोवर और सतेंद्र वधवा ने बताया की मीटिंग में यह भी कहा गया की व्यापारियों के कर्मचारियों के टीकाकरण किया जाना बेहद आवश्यक है जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. कैट के प्रदेश चैयरमैन सुशील गोयल ने बताया कि दिल्ली में अनेक बाज़ारों में संयुक्त रूप से होलसेल और रिटेल कारोबार होता हैं. ऐसे सभी बाजारों को इन दोनों में से कोई एक विकल्प चुनने की छूट दी जाए.