• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • अब इन दो चीनी कंपनियों को लग सकता है झटका, 5G नेटवर्क से बाहर रखने की उठी मांग

अब इन दो चीनी कंपनियों को लग सकता है झटका, 5G नेटवर्क से बाहर रखने की उठी मांग

कैट ने चीनी कंपनियों हुवावे, जेडईटी को 5जी नेटवर्क से बाहर रखने की मांग की

कैट ने चीनी कंपनियों हुवावे, जेडईटी को 5जी नेटवर्क से बाहर रखने की मांग की

कैट ने पत्र में कहा कि सरकार ने जिस तरह हाल में 59 ऐप को प्रतिबंधित किया, उसी नीति का पालन करते हुए हुवावेई और जेडईटी कॉरपोरेशन को 5जी प्रक्रिया में शामिल होने से रोकना चाहिए.

  • Share this:
    नई दिल्ली. चीन के सामान का बहिष्कार करने के तहत कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने केंद्र सरकार से 5जी नेटवर्क (5G Network) लागू करने की प्रक्रिया से चीनी कंपनियों हुवावेई (Huawei) और जेडईटी कॉरपोरेशन (ZTE Corporation) को पूरी तरह बाहर रखने की मांग की है. केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को भेजे एक पत्र में कैट ने कहा कि भारत की संप्रभुता और लोगों के व्यक्तिगत डाटा की सुरक्षा को देखते हुए इन दोनों कंपनियों को 5जी नेटवर्क से बाहर रखा जाए.

    कैट ने पत्र में कहा कि सरकार ने जिस तरह हाल में 59 ऐप को प्रतिबंधित किया, उसी नीति का पालन करते हुए हुवावेई और जेडईटी कॉरपोरेशन को 5जी प्रक्रिया में शामिल होने से रोकना चाहिए. बता दें कि अमेरिका के फेडरल कम्युनिकेशं​स कमिशन (FCC) ने 30 जून को चीनी टेलिकॉम वेंडर्स Huawei Technologies और ZTE Corporation पर पर बैन लगा दिया है.

    यह भी पढ़ें- 31 जुलाई तक बेटी के नाम खोलें ये खाता, 21 साल की उम्र में अकाउंट में होंगे 64 लाख रुपए

    US FCC ने कहा इन सभी कंपनियों की सब्सडियरीज पर भी प्रतिबंध लगाया जा रहा है. अमेरिका का कहना है कि ये दोनों चीनी कंपनियां और इनकी सहायक ईकाईयों से 'राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा' है. बता दें कि पहले ही Huawei और ZTE पर लगातार इस बात के आरोप लगते रहें है कि वो चीनी सरकार के साथ अमेरिकी नागरिकों को डेटा साझा करती हैं.

    59 चीनी ऐप्स पर बैन
    सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69ए (Section 69A of the Information Technology Act) के तहत टिकटॉक और हेलो ऐप समेत 59 चीनी मोबाइल ऐप्स पर पाबंदी लगाई है. सरकार ने एक बयान में कहा कि ये ऐप्स कुछ ऐसी गतिविधियों में संलिप्त हैं जो भारत की रक्षा, ​सुरक्षा, संप्रभुता और अखंडता के लिए हानिकारक है.' केंद्र सरकार ने कहा है कि इन ऐप्स का मोबाइल और नॉन-मोबाइल बेस्ड इंटरनेट डिवाइसेज में भी इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज