CAIT ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, Lockdown के स्थान पर अन्य ऑप्शन को अपनाने का किया आग्रह

लॉकडाउन (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लॉकडाउन (प्रतीकात्मक तस्वीर)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को रविवार को भेजे गए एक पत्र में कैट (CAIT) ने कहा है कि नाइट कर्फ्यू या लॉकडाउन से अभी तक देश में कोविड के बढ़ते मामलों पर अंकुश नहीं लगा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश भर में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. इस बीच, देश के कारोबारी समुदाय की सबसे बड़ी संस्था कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स यानी कैट (CAIT) ने कोरोना वायरस महामारी के प्रसार पर अंकुश के लिए लॉकडाउन (Lockdown) और नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) के स्थान पर अन्य विकल्पों को आजमाने का आग्रह किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रविवार को भेजे गए एक पत्र में कैट ने कहा है कि नाइट कर्फ्यू या लॉकडाउन से अभी तक देश में कोविड के बढ़ते मामलों पर अंकुश नहीं लगा है, ऐसी स्थिति में यह अधिक उपयुक्त होगा यदि पूरे देश में विकल्प के तौर पर जिला स्तर पर बेहद मजबूती के साथ कोविड उपायों को अपनाया जाए और विभिन्न क्षेत्रों के काम के समय में परिवर्तन किया जाए.

नाइट कर्फ्यू या लॉकडाउन से नहीं आए हैं वांछित परिणाम

पत्र में कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया और महासचिव प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि पिछले एक सप्ताह में कोविड के आंकड़ों का बारीकी से विश्लेषण करने से यह स्पष्ट हो गया है कि विभिन्न राज्यों में रात्रि कर्फ्यू और लॉकडाउन कोविड मामलों को नीचे लाने के वांछित परिणाम को पाने में असफल रहे हैं.
ये भी पढ़ें- PM Kisan: सरकार ट्रांसफर कर रही पीएम किसान स्कीम का पैसा, चेक करें आपके खाते में कब आएगी 8वीं किस्त?

वैकल्पिक उपलब्ध उपायों को अपनाया जाए

उन्होंने कहा की पांच अप्रैल को भारत में 96,563 कोविड मामले दर्ज किए गए. इनमें सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में आए. उसके बाद महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक और छत्तीसगढ़ में विभिन्न प्रतिबंध लगाए गए हैं. खंडेलवाल ने कहा कि नाइट कर्फ्यू या लॉकडाउन के बजाय अन्य वैकल्पिक उपलब्ध उपायों को अपनाया जाए, तो शायद कोविड के मामलों पर रोक लग सके. कैट ने सुझाव दिया है कि केवल लॉकडाउन निश्चित रूप से समाधान नहीं है.



ये भी पढ़ें- Indian Railways: बिहार जाने वाले यात्रियों के लिए खुशखबरी, इन ट्रेनों में मिलेगा कंफर्म टिकट, चेक करें ट्रेन का टाइम

पत्र में कहा गया है कि देश का बिजनेस और कॉमर्स 2020 के पिछले लॉकडाउन के नुकसान से उबरने के लिए संघर्ष कर रहा है. एक तरफ कोविड मामलों में वृद्धि को रोकने के लिए प्रभावी कदमों की आवश्यकता है जबकि दूसरी ओर आर्थिक और कमर्शियल गतिविधियों को भी सख्त तरीके से कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करते चलने देना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज