Ration Cards: क्या डीलर की शिकायत पर रद्द या निलंबित हो सकता है आपका राशन कार्ड? जानिए ऐसी ही सवालों के जवाब

क्या डीलर की शिकायत पर भी राशन कार्ड रद्द हो सकता है?
क्या डीलर की शिकायत पर भी राशन कार्ड रद्द हो सकता है?

One Nation One Ration Card Scheme: झारखंड (Jharkhand) के चतरा (Chatra) में एक पीडीएस डीलर (PDS Dealer) की शिकायत पर 22 राशन कार्डधारकों (Ration Card Holders) का लाइसेंस रद्द कर दिया गया था. राज्य की खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने डीलर की शिकायत पर बिना जांच किए ही 22 कार्डधारियों का राशन कार्ड रद्द कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 7:48 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले दिनों झारखंड (Jharkhand) के चतरा (Chatra) में एक पीडीएस डीलर (PDS Dealer) की शिकायत पर 22 राशन कार्डधारकों (Ration Card Holders) का लाइसेंस रद्द कर दिया गया था. राज्य की खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने डीलर की शिकायत पर बिना जांच किए ही 22 कार्डधारियों का राशन कार्ड रद्द कर दिया. इसकी शिकायत जब आलाधिकारी के पास पहुंची और दोबारा जांच की गई तो पता चला कि इन उपभोक्ताओं ने डीलर पर खाद्यान्न वितरण में अनियमितता का आरोप लगाया था. इसी कारण डीलर ने अपना प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए इन लोगों का राशन कार्ड रद्द करवा दिया. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या डीलर की शिकायत पर भी राशन कार्ड रद्द हो सकता है?

डीलर की शिकायत पर क्यों नहीं रद्द होगा राशन कार्ड
बता दें कि अगर उपभोक्ता डीलर पर अनियमितता का आरोप लगाता है तो उसकी भी जांच होती है. अगर डीलर दोषी पाया जाता है तो जिला प्रशासन डीलर का लाइसेंस रद्द कर सकता है या कुछ दिनों के निलंबित कर सकता है. झारखंड के चतरा में भी लोगों की शिकायत पर उस डीलर का लाइसेंस निलंबित कर दिया गया था. इसके बाद शिकायत करने वाले लोगों को दूसरे दुकान से आनाज मिलने लगा. लेकिन, सबसे दिलचस्प बात तो यह है कि जिस डीलर की शिकायत पर 22 कार्डधारियों का राशन कार्ड रद्द किया गया, उस समय इन सभी को दूसरे दुकान से राशन मिलता था. ऐसे में किसी दूसरे डीलर की शिकायत पर कैसे राशन कार्ड रद्द हुए?

one nation one ration card, one nation one card, one nation one ration, one nation one ration card scheme in hindi, one nation one ration card scheme, Modi Government, PM MODI, वन नेशन वन राशन कार्ड, वन नेशन वन राशन कार्ड क्या है, वन नेशन वन राशन कार्ड योजना क्या है, वन नेशन वन राशन कार्ड का मतलब क्या है, वन नेशन वन राशन कार्ड योजना कब लागू हुई, मोदी सरकार, पीएम मोदी
तमिलनाडु तथा अरुणाचल प्रदेश को एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना के तहत जोड़ा गया है.

राशन कार्ड रद्द करने से पहले जांच जरूरी


राशन कार्ड रद्द करने को लेकर जिला प्रशासन ने जांच शुरू कर दी है और ऐसा कहा जा रहा है कि जांच के बाद ही आगे की कोई कार्रवाई की जाएगी. लेकिन, अगर किसी उपभोक्ता का राशन कार्ड रद्द किया जाता है तो उससे पहले पूरी जांच की जाती है. डीलर की शिकायत पर राशन कार्ड रद्द नहीं किया जा सकता है. अगर डीलर को लगता है कि कोई आदमी राशन कार्ड गलत तरीके से बना रखा है या जिस कैटेगिरी का राशन कार्ड है उस कैटेगिरी का नहीं होना चाहिए तो डीलर इसकी शिकायत खाद्य एवं आपूर्ति विभाग से कर सकता है न कि अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर राशन कार्ड रद्द करवा सकता है.

ये भी पढ़ें: दुनिया के इन 15 देशों में आप भारतीय ड्राइविंग लाइसेंस से चला सकते हैं गाड़ी, जानें इसके बारे में सबकुछ

गौरतलब है कि देश में 31 मार्च 2021 तक 81 करोड़ से भी ज्यादा लाभार्थियों को राशन कार्ड की मदद से लाभ पहुंचाया जा रहा है. केंद्र सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि 31 मार्च 2021 तक देश के सभी राज्यों को वन नेशन वन राशन कार्ड योजना से जोड़ दिया जाए. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत आने वाले सभी 81 करोड़ लाभार्थियों को इसका लाभ फिर से आसानी से मिल सकेगा. देश में अब कुल 28 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में राष्ट्रीय पोर्टेबिलिटी सुविधा शुरू हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज