होम /न्यूज /व्यवसाय /सैलरी प्रोटेक्शन इंश्योरेंस क्या आपकी मदद कर सकता है? समझिए इसका पूरा नफा-नुकसान

सैलरी प्रोटेक्शन इंश्योरेंस क्या आपकी मदद कर सकता है? समझिए इसका पूरा नफा-नुकसान

 खरीदारों को पता होना चाहिए कि यह बिना किसी मेच्योरिटी लाभ के एक टर्म पॉलिसी है.

खरीदारों को पता होना चाहिए कि यह बिना किसी मेच्योरिटी लाभ के एक टर्म पॉलिसी है.

अब अधिकांश जीवन बीमा कंपनियां सैलरी प्रोटेक्शन इंश्योरेंस प्लान ऑफर कर रही हैं. यह एक टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी है, जो एक ...अधिक पढ़ें

Salary Protection Insurance: सैलरी पर काम करने वाले नौकरीपेशा व्यक्ति के लिए आर्थिक सुरक्षा एक बड़ा सवाल होता है. महामारी और आर्थिक उतार-चढ़ाव के बीच यह संकट और बढ़ गया है. सैलरी वाले लोगों को लिए आर्थिक सुरक्षा के नजरिए से सैलरी प्रोटेक्शन इंश्योरेंस यानी वेतन सुरक्षा बीमा भी एक बेहतर विकल्प हो सकती है.

अब अधिकांश जीवन बीमा कंपनियां ये प्लान ऑफर कर रही हैं. यह एक टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी है, जो एक रेगुलर इनकम पेऑउट ऑफर करती है. इसे इनकम प्रोटेक्शन इंश्योरेंस के तौर पर भी जाना जाता है. पॉलिसी लेने से पहले इसके पहलू के बारे में विस्तार से समझते हैं.

दो तरीके से ले सकते हैं लाभ
ऐसी टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय, आप ये विकल्प चुन सकते हैं कि आफ कुल बीमित राशि को किस तरीके से लेना चाहते हैं. ये दो तरीकों से आप ले सकते हैं- पहला रेगुलर इनकम और दूसरा एक मुश्त. ऐसे लोग निवेश-प्रेमी नहीं हैं या कम लेकिन गारंटीकृत रिटर्न चुनना चाहते हैं, वे नियमित आय भुगतान विकल्प के साथ टर्म पॉलिसी का विकल्प चुन सकते हैं.

यह भी पढ़ें- Motor Insurance Plan : सुरक्षित ड्राइविंग करने वालों को अब भरना होगा कम प्रीमियम, इरडा ने 2 नए कॉन्सेप्ट को दी मंजूरी

 नियमित भुगतान के साथ एक टर्म प्लान 
हालांकि, खरीदारों को पता होना चाहिए कि यह बिना किसी मेच्योरिटी लाभ के एक टर्म पॉलिसी है. पॉलिसीधारक की मृत्यु के मामले में केवल नॉमिनी को एक सुनिश्चित मृत्यु लाभ-एकमुश्त राशि प्राप्त होती है. मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक, वेतन बीमा पॉलिसी की शर्तों के अनुसार, बीमित व्यक्ति की मृत्यु के बाद एक निश्चित समय तक नियमित भुगतान किया जाता है. यह मूल रूप से नियमित भुगतान के साथ एक टर्म प्लान है.

कितनी हो सकती है इनकम
जब आप सैलरी इंश्योरेंस या इनकम प्रोटेक्शन टर्म इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते है को आपको मंथली इनकम को सेलेक्ट करना होता है जो आप अपने परिवार को देना चाहते हैं. यह आपकी वर्तमान मासिक टेक-होम आय से कम या उसके बराबर हो सकती है.

यह भी पढ़ें- Multibagger Stock में आशीष कचोलिया ने किया प्रॉफिट बुक, क्‍या आपके पास भी है यह शेयर?

उसके बाद, आपको पॉलिसी और प्रीमियम भुगतान अवधि का चयन करना होगा. उदाहरण के लिए, 30 वर्ष की आयु में (धूम्रपान न करने वाले के लिए), आप नियमित प्रीमियम भुगतान अवधि के लिए 15 वर्षों के लिए पॉलिसी खरीद सकते हैं.

पॉलिसी का पूरा गणित समझिए
बीमा कंपनी आपके मंथली इनकम पर सालाना परसेंटेज भी बढ़ाकर दे सकती है. उदाहरण के लिए, बीमाकर्ता आपको इस आय पर 6% की वार्षिक चक्रवृद्धि वृद्धि की पेशकश कर सकता है. इसका मतलब है कि प्रत्येक पॉलिसी वर्ष, मासिक राशि पिछले वर्ष की मासिक आय का 106% होगी.

मान लें कि आपने पॉलिसी खरीदते समय ₹50,000 की मासिक आय का विकल्प चुना था. पॉलिसी के दूसरे वर्ष में, यह मासिक आय बढ़कर ₹53,000 हो जाएगी, और उसके बाद अगले वर्ष ₹56,180 हो जाएगी. अब, पांचवें पॉलिसी वर्ष की शुरुआत में पॉलिसीधारक की दुर्भाग्यपूर्ण मृत्यु के मामले को मान लेते हैं. नामांकित व्यक्ति को ₹7.6 लाख का सुनिश्चित मृत्यु लाभ और ₹63,124 की बढ़ी हुई मासिक आय मिलेगी.

Tags: Employees salary, Salary break-up, Salary hike

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें