लाइव टीवी

बार-बार बढ़ रही ​GST रिटर्न की अंतिम तारीख, फिर भी कारोबारियों से वसूला जा रहा फाइन

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 4:39 PM IST
बार-बार बढ़ रही ​GST रिटर्न की अंतिम तारीख, फिर भी कारोबारियों से वसूला जा रहा फाइन
वस्तु एवं सेवा कर

सोमवार को सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम्स (CBIC) ने ट्वीट कर जानकारी दी कि वित्त वर्ष 2017-18 के लिए जीएसटी रिटर्न (GST Return) फाइल करने की अंतिम तारीख बढ़ा दी गई है. इसके बावजूद भी कारोबारियों से फाइन वसूला जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 4:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. करीब 3 दिन पहले ही वित्त मंत्री​ निर्मला सीतारमण ने (FM Nirmala Sitharaman) बजट भाषण में ऐलान किया कि अप्रैल 2020 से वस्तु एवं सेवा कर (GST) रिटर्न फॉर्म का सरलीकरण कर दिया जाएगा. 1 जुलाई 2017 को लागू किए गए GST सिस्टम में अभी तक टैक्स रिटर्न की व्यवस्था दुरुस्त नहीं हो पाई है. सरकार द्वारा जीएसटी रिटर्न (GST Return) का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाने का यह भी एक कारण है. वित्त वर्ष 2017-18 के लिए GSTR-9 और GSTR-9C रिटर्न की अंतिम तारीख को एक बार फिर बढ़ा दिया गया है. इसके पहले भी कई ऐसे मौके आए हैं, जब जीएसटी रिटर्न की तारीख बढ़ाई गई है. अभी वित्त 2019-2020 की अंतिम तिमाही चल रही है, लेकिन वित्त वर्ष 2017-18 के लिए भी GSTR-9 और GSTR-9C का रिटर्न भरने का काम पूरा नहीं हो पाया है.

तारीख बढ़ने के बाद भी वसूला जा रहा फाइन
सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम्स (CBIC) ने सोमवार को ट्वीट कर जानकारी दी है कि GSTR-9 और GSTR-9C रिटर्न भरने की अंतिम तारीख बढ़ाकर 5 और 7 फरवरी 2020 कर दिया है. मुश्किल यह है कि एक तरफ CBIC आखिरी तारीख बढ़ा रही है और दूसरी तरफ ट्रेडर्स से लेट फाइन भी वसूल रही है. वित्त वर्ष 2017-18 के लिए GSTR-9 रिटर्न अभी ना भरने वालों से हर दिन 200 रुपए के हिसाब से फाइन वसूला जा रहा है.

यह भी पढ़ें: बजट में हुए इस फैसले के बाद आपके पास हैं पैसा डबल करने का मौका!

क्यों बार-बार बढ़ाई जा रही रिटर्न अंतिम तारीख
GST रिटर्न की तारीखें बार-बार बढ़ाने पर चार्टर्ड अकाउंटेंट अभिषेक अनेजा का कहना है, "सरकार ने पहले भी कई बार GSTR-9 और GSTR-9C रिटर्न फाइल करने की तारीखें बढ़ाई हैं. अंतिम तारीख बढ़ाने की सबसे बड़ी वजह यह है कि पोर्टल पर अपडेटेड फॉर्म उपलब्ध नहीं है. यही वजह है कि GST रिटर्न फाइल करने वाले ट्रेडर्स की संख्या बहुत कम है."

अनेजा ने बताया, "इससे पहले 31 जनवरी को भी इसी वजह से रिटर्न फाइल करने की तारीख बढ़ाई गई थी." उन्होंने कहा, GSTR-9 और GSTR-9C रिटर्न फाइल करने की तारीख 31 जनवरी को पहले बढ़ाकर 3 फरवरी की गई और अब इसे बढ़ाकर 5 और 7 फरवरी कर दिया है. यह दो तारीखें अलग ग्रुप के राज्यों के लिए है.

किन राज्यों में क्या है जीएसटी रिटर्न फाइल करने की अंतिम तारीख
चंडीगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-एंड-कश्मीर, लद्दाख, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के ट्रेडर्स के लिए GSTR-9 और GSTR-9C रिटर्न फाइल करने की अंतिम तारीख 5 फरवरी है, जबकि मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, ओडिशा, पुडुचेरी, सिक्किम, तेलंगाना, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल सहित राज्य के दूसरे इलाकों के ट्रेडर्स के लिए आखिरी तारीख 7 फरवरी 2020 है.



यह भी पढ़ें: लाखों पेंशन पाने वालों को सरकार ने दिया तोहफा, ₹60 में घर बैठे पाएं ये सर्विस

ठीक इसी तरह अंडमान निकोबार, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दादर नगर हवेली, दमन-दीयू, गोवा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, केरल, लक्ष्यद्वीप, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में GSTR-9 और GSTR-9C रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 7 फरवरी है.

जीएसटी कानून की जटिलता ने खड़ी की परेशानी
इस साल हुए इकोनॉमिक सर्वे में माना गया है कि GST का सिस्टम काफी जटिल है. इस बात से चार्टर्ड अकाउंटेंट अभिषेक अनेजा भी सहमत हैं. अनेजा का कहना है, "सरकार ने पहले बेहद जटिल कानून लागू किया. साथ ही बार-बार संशोधन करके इसे और मुश्किल बनाया गया. इसकी एक मुश्किल यह है कि GST में रिटर्न फाइल करने के बाद उसे रिवाइज नहीं कर सकते हैं, जबकि पहले के इनडायरेक्ट टैक्स रिजीम में रिवाइज करने का विकल्प था."

क्या है प्रोफेशनल्स की मांग?
अनेजा का कहना है कि GST रिटर्न फाइल करने के लिए पर्याप्त इंफ्रास्ट्रक्चर ना होने और कई कम्प्लाएंस की वजह से ट्रेडर्स को मुश्किल होती है. उनका कहना है कि सरकार जब तक GST सिस्टम को पूरी तरह नहीं अपना लेती, तब तक भारी-भरकम पेनाल्टी ना लगाए. अगर ऐसा होगा तो यह ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of doing Business) के खिलाफ है.

प्रतिमा शर्मा- एसोसिएट एडिटर, मनीकंट्रोल

यह भी पढ़ें:  PM Kisan: 6.12 करोड़ किसानों को मिलेंगे ₹37 हजार करोड़, अप्रैल में बड़ा बदलाव!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 3:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर