केंद्र का फैसला-2020 तक किसानों के खाते में मिलती रहेगी यूरिया सब्सिडी

2020 तक इस योजना का लाभ मिलता रहेगा और किसानों को उर्वरकों पर सब्सिडी मिलती रहेगी. वहीं खास बात है कि यूरिया सब्सिडी सीधे किसानों के खातों में जाएगी.

News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 8:35 PM IST
केंद्र का फैसला-2020 तक किसानों के खाते में मिलती रहेगी यूरिया सब्सिडी
Demo Pic. Photo : ETV
News18Hindi
Updated: March 14, 2018, 8:35 PM IST
12वीं पंचवर्षीय योजना से बाहर चल रही यूरिया सब्सिडी योजना को निरंतर करने की मंजूरी दे दी गई है. ऐसे में 2020 तक इस योजना का लाभ मिलता रहेगा और किसानों को उर्वरकों पर सब्सिडी मिलती रहेगी. वहीं खास बात है कि यूरिया सब्सिडी सीधे किसानों के खातों में जाएगी. सीसीईए ने यूरिया सब्सिडी योजना को जारी रखने का फैसला किया है. इससे सरकार पर 165935 करोड़ रुपये का भार पड़ेगा.




सीसीईए ने उर्वरक सब्सिडी के लिए डीबीटी (डायरेक्‍ट बे‍निफिट ट्रांसफर) के कार्यान्‍वयन को भी मंजूरी दे दी है. इससे किसानों को सीधे ही इस सब्सिडी का लाभ मिलेगा. उर्वरक सब्सिडी में होने वाली चोरी को रोकने के लिए सरकार डीबीटी का इस्‍तेमाल करना चाह रही है.

बता दें कि खाद पर दी जाने वाली सब्सिडी फिलहाल फर्टिलाइजर कंपनियों को दी जाती है. लेकिन इस सब्सिडी को सीधे किसानों को देने के लिए देश के कुल 16 जिलों में यह योजना शुरू की गई थी.  इसके शुरुआती नतीजे काफी अच्‍छे रहे हैं, ऐसे में सरकार इसे पूरे देश में लागू करने की सोच रही है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->