भारतीय सेना में बढ़ सकती है रिटायरमेंट उम्र, पेंशन को लेकर भी नई योजना बना रही है सरकार

भारतीय सेना में जल्द ही बड़ा बदलाव हो सकता है.
भारतीय सेना में जल्द ही बड़ा बदलाव हो सकता है.

चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ (CDS) जनरल बिपिन रावत के सामने डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स ने सेना के जवानों और सैन्य अफसरों की रिटायरमेंट उम्र बढ़ाने का प्रस्ताव रखा है. इसके साथ ही पेंशन को लेकर भी प्रस्ताव दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 9:23 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: भारतीय सेना में जल्द ही बड़ा बदलाव हो सकता है. चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ (CDS) जनरल बिपिन रावत के सामने डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स ने सेना के जवानों और सैन्य अफसरों की रिटायरमेंट उम्र बढ़ाने का प्रस्ताव रखा है. इसके साथ ही पेंशन को लेकर भी प्रस्ताव दिया है. Department of Military Affairs सेना में काम करने वाले कुशल लोगों को और अधिक समय तक सेना में बनाए रखने के लिए यह प्रस्ताव पेश किया है.आपको बता दें जनरल बिपिन रावत के सामने विभाग ने यह प्रस्ताव रखा है. इसके अलावा पेंशन को लेकर विभाग ने कहा कि समय से पहले सेवानिवृत्ति लेने वाले अधिकारियों की पेंशन योग्यताओं को संशोधित किया जाएगा. यानी उनकी पेंशन में कटौती की जा सकती है.

कई और प्रस्ताव भी पाइपलाइ में
इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, इन सभी प्रस्तावों को सेना में मैनपॉवर के सर्वोत्तम उपयोग के लिए शुरू किया जा रहा है. वर्तमान प्रस्तावों का समर्थन करने के लिए कई और प्रस्ताव पाइपलाइन में हैं.

कितनी हो सकती है रिटायरमेंट की उम्र
आपको बता दें डिपार्टमेंट की ओर से रखे गए प्रस्ताव के मुताबिक, कर्नल और समकक्षों की सेवानिवृत्ति की आयु को 54 से बढ़ाकर 57 करने का प्रस्ताव दिया है. इसके अलावा ब्रिगेडियर और उनके समकक्ष काम करने वाले की उम्र को 56 से बढ़ाकर 58 करने का प्रस्ताव दिया है.



यह भी पढ़ें: शुरू करें मुनाफे वाला दमदार बिजनेस, हर महीने होगी 70 हजार रुपए तक कमाई!

लेफ्टिनेंट जनरल की नहीं बढ़ेगी रिटायरमेंट उम्र
इसके अलावा मेजर जनरल्स मौजूदा 58 में से 59 वर्ष की आयु में रिटायर होंगे. वहीं, लेफ्टिनेंट जनरल की सेवानिवृत्ति की आयु 60 साल ही रहेगी. यानी इसमें कोई बदलाव नहीं होगा.

इन जवानों की भी उम्र बढ़ाने का प्रस्ताव
आपको बता दें लॉजिस्टिक, टेक्निकल और मेडिकल ब्रांच में जूनियर कमीशंड ऑफिसर और जवानों की रिटायरमेंट की उम्र 57 साल करने का प्रस्ताव दिया गया है. साथ ही इसमें भारतीय सेना की EME, ASC और AOC ब्रांच भी शामिल होंगे.

पेंशन को लेकर क्या है प्रस्ताव
आपको बता दें डिपार्टमेंट ने पेंशन को लेकर कहा कि पहले सेवानिवृत्ति लेने वाले जवानों के लिए प्रस्तावित संशोधन के मुताबिक, 20-25 साल की सेवा के बाद जो भी सेवानिवृत्त होगा उनको 50 फीसदी पेंशन ही दी जाएगी. इसके अलावा जो भी जवान 25-30 साल की सेवा के बाद सेवानिवृत्त होगा उनको 60 फीसदी पेंशन दी जाएगी. इसके अलावा 35 साल के बाद सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों को पूरी पेंशन दी जाएगी.

यह भी पढ़ें: दिवाली से पहले बनिए लखपति, सिर्फ ये 1 रुपए का नोट आपको बनाएगा मालामाल!

कहां नहीं होगा बदलाव
इसके अलावा सूत्रों से जानकारी मिली है कि युद्ध के हताहतों या चिकित्सा कारणों से सेवानिवृत्त होने वाले कर्मियों की पेंशन में कोई संशोधन नहीं होगा. इसके अलावा उन सभी अधिकारियों को विभाग की ओर से बेहतर सुविधाएं दी जाएंगी. सूत्रों ने कहा कि इन प्रस्ताव का कारण यह है कि कई विशेषज्ञ और सुपर विशेषज्ञ हैं जिन्हें सशस्त्र बलों में अत्यधिक कुशल नौकरियों के लिए प्रशिक्षित किया जाता है जो इसे अन्य क्षेत्रों में काम करने के लिए छोड़ देते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज