होम /न्यूज /व्यवसाय /

FD में निवेश का लौटा दौर, सेंट्रल बैंक के फिक्स्ड डिपॉजिट पर भी मिलेगा अब ज्यादा ब्याज  

FD में निवेश का लौटा दौर, सेंट्रल बैंक के फिक्स्ड डिपॉजिट पर भी मिलेगा अब ज्यादा ब्याज  

बैंकों ने फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में बढ़ोतरी का सिलसिला शुरू कर दिया है.

बैंकों ने फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में बढ़ोतरी का सिलसिला शुरू कर दिया है.

दो साल बाद फिर से एफडी में निवेश का दौर लौटा है. लॉन्ग टर्म की बजाय शार्ट टर्म एफडी में निवेश करने वालों के लिए यह ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि आगे भी एफडी की दरों में बढ़ोतरी संभव है. उम्मीद जताई जा रही है कि महंगाई को नियंत्रित करने के लिए रिजर्व बैंक आगे भी रेपो रेट और सीआरआर में वृद्धि करेगा. उस समय भी बैंक एफडी की ब्याज दरें बढ़ा सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. फिक्स्ड डिपॉजिट (fixed deposit) में निवेश हमेशा से सुरक्षित माना जाता रहा है. निश्चित रिटर्न की गांरटी की वजह से निवेशकों के लिए यह पसंदीदा निवेश का साधन रहा है. मगर महामारी की वजह से पिछले दो साल से एफडी (FD) पर बैंक कम ब्याज ऑफर कर रहे थे. अर्थव्यवस्था में सुधार और कर्ज की मांग बढ़ने की वजह से इस साल जनवरी से ही एफडी पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी का सिलसिला शुरू हो गया था.

इसके बाद इसी महीने रिजर्व बैंक ने महंगाई को नियंत्रित करने के लिए दो साल बाद रेपो रेट और सीआरआर (नकद आरक्षित अनुपात) में बढ़ोतरी का फैसला किया. सीआरआर में आधा फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. इससे एक ही झटके में बैंकिंग सिस्टम से 87,000 करोड़ रुपये कम हो गए.

ये भी पढ़ें- शेयर बाजार में गिरावट से म्‍यूचुअल फंड धराशायी, अप्रैल में घटा 44 फीसदी निवेश, आगे क्‍या रणनीति बनाएं निवेशक?

शार्ट टर्म एफडी ज्यादा फायदेमंद
इसका मतलब यह भी हुआ कि बैंकों के पास कर्ज देने लायक इतनी पूंजी कम हो गई. जबकि दूसरी ओर आर्थिक गतिविधियों में तेजी आने से कर्ज की मांग बढ़ी है. पूंजी की इस कमी को दूर करने के लिए ही बैंक एफडी पर दोबारा से ब्याज दरें बढ़ा रहे हैं. दो साल बाद फिर से एफडी में निवेश का दौर लौटा है. लॉन्ग टर्म की बजाय शार्ट टर्म एफडी में निवेश करने वालों के लिए यह ज्यादा फायदेमंद है क्योंकि आगे भी एफडी की दरों में बढ़ोतरी संभव है. उम्मीद जताई जा रही है कि महंगाई को नियंत्रित करने के लिए रिजर्व बैंक आगे भी रेपो रेट और सीआरआर में वृद्धि करेगा. उस समय भी बैंक एफडी की ब्याज दरें बढ़ा सकते हैं.

सेंट्रल बैंक ने एफडी पर बढ़ाया ब्याज
सार्वजनिक क्षेत्र के सेंट्रल बैंक ने भी एफडी की ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर दी है. यह बढ़ोतरी 2 करोड़ रुपये तक की जमाओं पर की गई है. सेंट्रल बैंक की आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, 7 दिन से लेकर 10 साल तक की जमाओं पर बैंक अब 2.75 फीसदी से लेकर 5.5 फीसदी तक ब्याज ऑफर कर रहा है. 1 साल से लेकर 2 साल से कम अवधि के लिए बैंक पहले 5 फीसदी ब्याज दे रहा था. इसे 10 बेसिस प्वाइंट बढ़ाकर 5.1 फीसदी कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें- अशनीर ग्रोवर से अब छीने जाएंगे BharatPe के शेयर, फिनटेक कंपनी ने शुरू कर दी है तैयारी

वरिष्ठ नागरिकों को बैंक सभी जमाओं पर आधा फीसदी ज्यादा ब्याज दे रहा है. वरिष्ठ नागरिकों को 7 दिन से 10 साल तक की मैच्योरिटी वाली एफडी पर 3.25 फीसदी से 6 फीसदी तक ब्याज ऑफर किया जा रहा है. रिजर्व बैंक के कदम के बाद दर्जनों बैंक एफडी की ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा कर चुके हैं.

Tags: Bank FD, Bank interest rate, FD Rates, Interest rate of banks

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर