रोजमर्रा के सामानों पर अब MRP समेत 6 बातों को मोटे अक्षरों में लिखना अनिवार्य, नहीं तो सरकार लेगी सख्त एक्शन

अब सामानों पर एमआरपी को लेकर सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है.
अब सामानों पर एमआरपी को लेकर सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है.

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने कहा है कि सभी राज्यों और लीगल मेट्रोलॉजी को निर्देश दिया जाता है कि ये सुनिश्चित करे कि प्रोडक्ट पर निर्माता देश का नाम, निर्माता/आयातक/पैकर का नाम-पता, Date of Manufacture, Expiry Date MRP (कर सहित), मात्रा/वजन, उपभोक्ता शिकायत नं. आदि उपभोक्ता के हित में अन्य जरूरी बातें बड़े अक्षरों में लिखी जाए.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) ने रोजमर्रा के इस्तेमाल में आने वाले वस्तुओं पर एमआरपी (Maximum Retail Price) के गड़बड़झाला पर सख्त एक्शन लिया है. केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने साफ कहा है कि एमआरपी को लेकर उपभोक्ताओं (Consumers) को अंधकार में रखा जाता है. इसको लेकर सरकार अब गंभीर हो गई हो गई है. रामविलास पासवान ने कहा है कि ऐसी शिकायत मिल रही है कि पैकेट में बिकने वाले सामानों पर प्रदर्शित होने वाली जरूरी जानकारी का सही ढंग से पालन नहीं हो रहा है. इस संबंध मैंने विभाग के सचिव और लीगल मेट्रोलॉजी के अधिकारियों को कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए कई बार आदेश दिए हैं. अब सामानों पर एमआरपी को लेकर विभाग सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है.

MRP को लेकर सरकार ने दिखाई सख्ती
रामविलास पासवान ने कहा है कि सभी राज्यों व लीगल मेट्रोलॉजी को निर्देश दिया जाता है कि ये सुनिश्चित करे कि प्रोडक्ट पर निर्माता देश का नाम, निर्माता/आयातक/पैकर का नाम-पता, Date of Manufacture, Expiry Date MRP (कर सहित), मात्रा/वजन, उपभोक्ता शिकायत नं. आदि उपभोक्ता के हित में अन्य जरूरी बातें बड़े अक्षरों में लिखी जाए.





पासवान ने कहा है कि अभी तक अनेक सामानों पर उत्पादन की तिथि या एक्सपायरी डेट, वजन आदि छोटे अक्षरों में लिखे जाते हैं, जिसे पढ़ना कठिनाई होता है. उपभोक्ता मामले विभाग इस संबंध में सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करे एवं लीगल मेट्रोलॉजी के अधिकारी इसपर सतत निगरानी रखें और उल्लंघन पाये जाने पर सख्त कार्रवाई करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज