कोरोना संकट के बीच सोशल मीडिया पर सरकार की सख्‍ती! Twitter ने 'भ्रामक जानकारी' देने वाले 50 ट्वीट हटाए

केंद्र सरकार ने ट्विटर को 50 ट्वीट हटाने का आदेश दिया.

केंद्र सरकार ने ट्विटर को 50 ट्वीट हटाने का आदेश दिया.

केंद्र सरकार (Central Government) के आदेश के बाद माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर (Twitter) ने अपने प्लेटफॉर्म से 50 से अधिक ट्वीट्स (Tweets) को हटा दिया है. सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने भ्रम फैलाने वाले 100 ट्वीट्स (Misleading Tweets) भी हटाने को कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 7:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के बीच केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Modi Government) ने विभिन्‍न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स (Social Media Platforms) से ऐसे 100 पोस्‍ट या यूआरएल (URL) हटाने के निर्देश दिए हैं, जिनमें देश में कोविड-19 के हालात को लेकर कथित तौर पर भ्रामक जानकारी है. यही नहीं, कोरोना संक्रमण को लेकर दहशत फैलाने वाले पोस्‍ट (Posts), ट्वीट (Tweets) और यूआरएल हटाने को कहा गया है. माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर ने केंद्र सरकार के आदेश के बाद 24 अप्रैल को अपने प्लेटफॉर्म से 50 से अधिक ट्वीट्स हटा दिए थे.

अराजकता के हालात से बचने के लिए उठाया कदम

द हिंदू के मुताबिक, इनमें ज्यादातर पोस्ट कोरोना वायरस महामारी से जुड़े थे. सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार की ओर से यह निर्देश इसलिए दिया गया है ताकि इन कथित भ्रामक पोस्‍ट्स के कारण देश में किसी तरह की अराजकता की स्थिति पैदा न हो सके. पिछले कुछ समय से कोरोना महामारी से संबंधित पुरानी सूचनाओं और फर्जी खबरों को गलत तस्वीरों व आंकड़ों के साथ जोड़कर सोशल मीडिया पर तेजी से फैलाया जा रहा था. कथित फर्जी पोस्ट पर सरकार की नजर पड़ने के बाद सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग के मद्देनजर अलग-अलग प्लेटफॉर्म्‍स से करीब 100 पोस्‍ट्स को हटाने के लिए कहा है.

ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बीच HDFC बैंक ग्राहकों के लिए बड़ी राहत! आपके दरवाजे तक पहुंचेगी ATM वैन
इन वेरीफाइड अकाउंट्स के ट्वीट्स किए डिलीट

ट्विटर की ओर से मिले आदेश के अनुसार, कुछ वेरीफाई अकाउंट के ट्वीट हटा दिए गए हैं. इनमें कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ारा, संसद सदस्य रेवंत रेड्डी, पश्चिम बंगाल के मंत्री मोलॉय घटक, एबीपी न्यूज के संपादक पंकज झा, अभिनेता विनीत कुमार, फिल्म निर्माता अविनाश दास और फिल्म निर्माता व पूर्व पत्रकार विनोद कापड़ी शामिल हैं. हटाए गए कई ट्वीट में बेड व दवा की कमी, दाह संस्कार और महामारी के बीच कुंभ मेले में भीड़ जुटने से जुड़ी जानकारियां थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज