Home /News /business /

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, इंक्रीमेंट को लेकर सरकार ने जारी की सफाई

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, इंक्रीमेंट को लेकर सरकार ने जारी की सफाई

केंद्रीय कर्मचारियों के इंक्रीमेंट को लेकर सरकार ने जारी की सफाई.

केंद्रीय कर्मचारियों के इंक्रीमेंट को लेकर सरकार ने जारी की सफाई.

सेंट्रल सीविल सर्विसेज (Central Civil Services) के रूल 10, 2016 को लेकर सरकार ने सफाई जारी की है. इस इंक्रीमेंट में सरकार ने छठे और सातवें वेतन आयोग को ध्यान में रखते हुए सफाई जारी की है.

    नई दिल्ली. वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) के डिपार्टमेंट ऑफ एक्सपेंडिचर (Department of Expenditure) ने केंद्रीय कर्मचारियों के प्रोमोशन और इंक्रीमेंट को लेकर सेंट्रल सीविल सर्विसेज (Central Civil Services) के रूल 10, 2016 को लेकर सफाई जारी किया है. इस रूल के मुताबिक, कर्मचारियों को 1 जनवरी या 1 जुलाई को उनके अप्वाइंटमेंट की तारीख के आधार पर इंक्रीमेंट होना है. इस रूल के तहत केंद्रीय कर्मचारियों को प्रोमोशन और वित्तीय अपग्रेडेशन की सुविधा मिलती है.

    क्या है सरकार की सफाई
    1 जनवरी से लेकर 1 जुलाई के बीच में किए गए इंक्रीमेंट को 1 जनवरी को ही ग्रांट किया जाएगा. जिन कर्मचारियों को 2 जुलाई से लेकर 1 जनवरी के बीच में इंक्रीमेंट मिलना है, उन्हें 1 जुलाई को ग्रांट दिया जाएगा. ये तारीख कर्मचारियों के इंक्रीमेंट, प्रोमोशन और वित्तीय अपग्रेडेशन के लिए ही लागू होंगे. इसमें मोडिफाइड एश्योर्ड कैरियर प्रोग्रेशन स्कीम (MACPS) के तहत अपग्रेडेशन भी शामिल होगा.

    ये भी पढ़ें: खुशखबरी! आ रही नौकरियों की बहार, इन 7 सेक्टर्स में होगी बंपर भर्ती

    एक साल पूरा होने के बाद ही मिलेगा इंक्रीमेंट का लाभ
    वित्त मंत्रालय ने 1 जुलाई 2016 को किए गए इंक्रीमेंट के बारे में भी सफाई दिया है. 31 जुलाई 2018 की तारीख से डिपार्टमेंट ऑफ एक्सपेंडीचर ने एक ऑफिस मेमोरेंडम (Office Memorandum) जारी कर कहा है कि अगर कोई कर्मचारी 1 जनवरी या 1 जुलाई को कोई केंद्रीय कर्मचारी MACPS के तहत प्रोमोट हुआ है तो उनको पहला लाभ अगले 1 जुलाई या 1 जनवरी को मिलेगा. साथ में यह भी शर्त होगी कि 6 महीने के लिए क्वालिफाईंग सर्विस भी जरूरी होगी. हालांकि, इंक्रीमेंट का लाभ एक साल पूरा होने के बाद ही मिलेगा.

    क्या है मामला
    1 जुलाई को प्रोमोशन और दो वेतन वृद्धि के साथ वेतन निर्धारण के बाद स्पष्टीकरण की मांग की गई थी कि अगले वेतन वृद्धि की तारीख 1 जनवरी या 1 जुलाई होगी.

    ये भी पढ़ें: लोन चुकाने में पुरुषों से आगे हैं महिलाएं, जानें क्या है डिफॉल्ट की सबसे बड़ी वजह?

    इंक्रीमेंट की तारीख पर सफाई
    6ठे वेतन आयोग के समय, जब सालाना इंक्रीमेंट 1 जुलाई को ही किया जाता था तब 1 जुलाई तक जिन कर्मचारियों को रिवाइज्ड पे स्ट्रक्चर के तहत 6 महीने पूरे कर लिए थे, वे ही 1 जुलाई तक इंक्रीमेंट ग्रांट के लिए योग्य होते थे. 7वें वेतन आयोग में दो तारीखें तय की गई, जोकि 1 जनवरी और 1 जुलाई है.

    छठे वेतन आयोग को ध्यान में रखते हुए ऑफिस मेमोरेंडम में 31 जुलाई 2018 की तारीख से जारी किया गया. डिपार्टमेंट ऑफ एक्सपेंडीचर ने अपनी सफाई में यह भी कहा कि जारी किए गए ऑफिस मेमोरेंडम में निर्देश खुद ही सुगम और नियमों के मुताबिक हैं.

    ये भी पढ़ें: इन वस्तुओं पर ज्यादा GST देने के लिए रहें तैयार, 18 दिसंबर को होने वाला है बड़ा फैसला!

    Tags: Business news in hindi, Central government, Employees salary, Employment opportunities

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर