N95 फेस मास्क को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, पूरी तरह से हटाई निर्यात पाबंदी

केंद्र सरकार ने एन-95 समेत ऐसे तमाम फेस मास्‍क के निर्यात से पूरी तरह से पाबंदी हटा दी है.
केंद्र सरकार ने एन-95 समेत ऐसे तमाम फेस मास्‍क के निर्यात से पूरी तरह से पाबंदी हटा दी है.

कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार (Central Government) ने घरेलू जरूरतों को ध्‍यान में रखते हुए एन-95 मास्‍क (N95 Face Mask) के निर्यात पर पाबंदी लगा दी थी. बाद में धीरे-धीरे इसमें छूट दी गई. अब सरकार ने एन-95 और एफएफपी-2 (FFP-2 Mask) समेत ऐसे सभी फेस मास्‍क के निर्यात से पाबंदी पूरी तरह हटा (Revoked Restrictions) दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 10:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) समेत दुनियाभर के वैज्ञानिकों और स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों ने एन-95 फेस मास्‍क (N95 Face Mask) को कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सबसे कारगर हथियार माना है. इसके मद्देनजर केंद्र सरकार ने भारत से इसके निर्यात पर पाबंदी (Export Restrictions) लगा दी थी ताकि घरेलू जरूरतों को पूरा किया जा सके. अब केंद्र ने एन-95 मास्क के निर्यात पर लगाए गए प्रतिबंध को हटा (Revoked Ban) दिया है. वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय (MoCI) के तहत काम करने वाले विदेश व्‍यापार महानिदेशालय (DGFT) ने अधिसूचना जारी कर निर्यात प्रतिबंध हटाने की जानकारी दी. इससे पहले केंद्र ने घरेलू जरूरतों (Domestic Demand) के आधार पर अगस्त 2020 में मास्क निर्यात के लिए हर महीने 50 लाख इकाई की सीमा तय कर दी थी.

पूरी तरह हटी पाबंदी, अब किसी भी मात्रा में किया जा सकता है निर्यात
डीजीएफटी की ओर से कहा गया है कि एन-95 और एफएफपी-2 मास्क (FFP-2 Mask) समेत तमाम ऐसे मास्क पर लगा प्रतिबंध हटाया जा रहा है. अब इन फेस मास्‍क का किसी भी मात्रा में निर्यात किया जा सकता है. कुछ समय पहले तक इस तरह के मास्क की आपूर्ति को लेकर बड़ी समस्‍या थी. यहां तक कि देश में कई गुना दाम पर फेस मास्‍क की कालाबाजारी (Black Marketing) भी हुई. इसके बाद केंद्र सरकार ने फेस मास्‍क की अलग-अलग कैटेगरी के आधार पर कीमत तय (Price Control) की. फिर इसके निर्यात पर पाबंदी लगाई और प्रोडक्‍शन को बढ़ावा दिया. जैसे-जैसे बड़ी संख्‍या में मास्‍क तैयार होते गए सरकार धीमे-धीमे निर्यात की सीमा बढ़ाती रही. अब सरकार ने मास्‍क के निर्यात से पाबंदी पूरी तरह हटा दी है.

ये भी पढ़ें- Samsung Galaxy S20 FE भारत में हुआ लॉन्‍च, जानिए कीमत और फीचर्स
मास्‍क को दोबारा इस्‍तेमाल करने के लिए किया जा सकता है डिसइंफेक्‍ट


दरअसल, एक समय ऐसा भी आया, जब एन 95 मास्क की किल्लत की वजह से स्वास्थ्यकर्मियों (Health Workers) तक को इन्हें दोबारा इस्तेमाल करना पड़ रहा था. शोधकर्ताओं ने N95 मास्क को दोबारा इस्तेमाल करने के लिए हीट व ह्यूमिडिटी के जरिये संक्रमण-मुक्त (Disinfect) करने का तरीका खोजा है. ऊर्जा विभाग के एसएलएसी नेशनल एक्सीलिरेटर लेबोरेटरी, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास की चिकित्सकीय शाखा के शोधकर्ताओं के मुताबिक हाई रिलेटिव ह्यूमिडिटी में एन95 मास्क को धीरे-धीरे गर्म करने से मास्क के भीतर फंसे सार्स-सीओवी-2 (SARS-CoV-2) वायरस को निष्क्रिय किया जा सकता है. स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों के मुताबिक, सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करने के साथ ही मास्‍क लगाने और हाथों को बार-बार धोकर कोरोना वायरस की चपेट में आने से बचा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज