केंद्र सरकार NFL में 20 फीसदी तो RCF में 10% हिस्सेदारी बेचेगी, जानें इस बिक्री से जुटेगी कितनी रकम

केंद्र सरकार दो फर्टिलाइजर कंपनियों में अपनी हिस्‍सेदारी बेचकर रकम जुटाएगी.

केंद्र सरकार दो फर्टिलाइजर कंपनियों में अपनी हिस्‍सेदारी बेचकर रकम जुटाएगी.

केंद्र सरकार चालू वित्‍त वर्ष के दौरान एनएफएल (NFL) और आरसीएफ (RCF) में अपनी हिस्सेदारी ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये बेचेगी. डिपार्टमेंट ऑफ इंवेस्टमेंट एंड पब्लिक ऐसेट मैनेजमेंट (DIPAM) ने इस प्रस्तावित शेयर सेल को मैनेज करने के लिए 5 मई 2021 तक इच्छुक मर्चेंट बैंकर्स (Merchant Bankers) से बोलियां मांगी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 12:12 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार वित्त वर्ष 2021-22 के विनिवेश लक्ष्यों (Disinvestment Plan) को पूरा करने के लिए दो कंपनियों में अपनी हिस्‍सेदारी बेचने (Government Stake Sell) की योजना पर काम कर रही है. इसके तहत केंद्र सरकार नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (NFL) और राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स (RCF) में अपनी कुछ-कुछ हिस्सेदारी बेचेगी. सरकार एनएफएल में जहां अपनी 20 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की योजना बना रही है. वहीं, आरसीएफ में सरकार की 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की योजना है.

केंद्र दोनों कंपनियों में ओएफएस के जरिये बेचेगा अपना हिस्‍सा

सरकार चालू वित्‍त वर्ष के दौरान ही इन दोनों कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये बेचेगी. डिपार्टमेंट ऑफ इंवेस्टमेंट एंड पब्लिक ऐसेट मैनेजमेंट (DIPAM) ने इस प्रस्तावित शेयर सेल को मैनेज करने के लिए 5 मई तक इच्छुक मर्चेंट बैंकर्स (Merchant Bankers) से बोलियां मांगी हैं. बता दें कि एनएफएल में सरकार की हिस्सेदारी 74.71 फीसदी है. वहीं, आरसीएफ में सरकार की हिस्सेदारी 75 फीसदी है. एनएफएल में 20 फीसदी हिस्सेदारी बेचने से सरकार को करीब 500 करोड़ रुपये हासिल होंगे. वहीं, आरसीएफ में 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचने से 400 करोड़ रुपये प्राप्त होंगे.

ये भी पढ़ें- कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच घरों की मांग में हुआ इजाफा, जनवरी-मार्च में 20 फीसदी बढ़ी मकानों की बिक्री
सितंबर 2020 तक एनएफएल की नेटवर्थ थी 2,117 करोड़ रुपये

नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड का टैक्स के बाद कुल मुनाफा वित्‍त वर्ष 2020-21 के दौरान 198 करोड़ रुपये रहा है. वहीं, सितंबर 2020 तक कंपनी का नेटवर्थ 2,117 करोड़ रुपये था. राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स का वित्त वर्ष 2019-20 में टैक्स का भुगतान करने के बाद शुद्ध मुनाफा 208.15 करोड़ रुपये रहा था. वहीं, मार्च 2020 तक कंपनी का नेटवर्थ यानी कुल पूंजी 3186.27 करोड़ रुपये रही थी. बता दें कि सरकार जरूरी खर्च को पूरा करने के लिए और कुछ कंपनियों में अपनी हिस्‍सेदारी सीमित करने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में अपना हिस्‍सा बेचने की योजना पर काम कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज