लाइव टीवी

बजट में किसानों को खास ​सब्सि​डी दे सकती है सरकार, जानिए क्या है प्लान

भाषा
Updated: January 25, 2020, 7:28 PM IST
बजट में किसानों को खास ​सब्सि​डी दे सकती है सरकार, जानिए क्या है प्लान
किसान

कई रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि 1 फरवरी को पेश किए जाने वाले बजट में केंद्र सरकार किसानों को खाद सब्सिडी का लाभ दे सकती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार आगामी आम बजट (Union Budget 2020) में किसानों के खाते में खाद सब्सिडी (Fertilizer Subsidy) डालने की व्यवस्था कर सकती है. यह अनुमान जताते हुए इफको (IFFCO) के प्रबंध निदेशक डाक्टर यू एस अवस्थी ने उत्तर प्रदेश के फूलपुर इकाई में कहा कि इससे किसान अपनी पसंद से खाद खरीदने के लिए स्वतंत्र हो जाएगा. उन्होंने कहा, ‘‘किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को 43,000 करोड़ रुपये अब तक वितरित किए जा चुके हैं. इससे साबित हो गया है जिन खाद पर सरकार सब्सिडी देती है, उनके लिए प्रत्यक्ष लाभ अंतरण की व्यवस्था हो सकती है.’’

किसान क्रेडिट कार्ड से की जा सकेगी खाद की खरीदारी
उन्होंने बताया, ‘‘हालांकि इस संबंध में किसी सूचना तक मेरी पहुंच नहीं है, लेकिन सूत्रों से पता चला है कि सरकार इस दिशा में काफी गंभीरता से काम कर रही है. यदि ऐसा हुआ तो किसान अपने किसान क्रेडिट कार्ड या जनधन खाता से खाद खरीदने का निर्णय कर सकेगा. वह वही चीज लेगा जो उसके लिए काम आए.’’

यह भी पढ़ें: बाबा रामदेव ने बताया पतंजलि को 1 लाख करोड़ की कंपनी बनाने का प्लान

नैनो नाइट्रोजन के विकास में लगी इफको
अवस्थी ने इफको की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए बताया कि यूरिया का उपयोग घटाने की दिशा में पिछले तीन वर्ष से नैनो नाइट्रोजन के विकास में लगी इफको ने वैश्विक स्तर पर इसका पेटेंट करा लिया है और पिछले वर्ष तीन नवंबर को कलोल इकाई में इसे लांच किया गया है. उन्होंने बताया कि नैनो नाइट्रोजन की 500 मिली की एक शीशी एक बोरी यूरिया के बराबर काम करती है. इफको अभी 15,000 जगहों पर इसका ट्रायल कर रही है. अप्रैल या मई में इसे फर्टिलाइजर कंट्रोल एक्ट में शामिल करने के लिए आवेदन किया जाएगा. सरकार से मंजूरी मिलने पर इसे बाजार में उतारा जाएगा.

यह भी पढ़ें: SBI ग्राहकों के लिए खास सुविधा, अब जेब में डेबिट कार्ड रखने की नहीं होगी जरूरत 

ग्लोबल वार्मिंग को कम करने का दावा
अवस्थी ने बताया कि इफको ने नैनो नाइट्रोजन का संयंत्र लगाने पर करीब 100 करोड़ रुपये निवेश करने की योजना बनाई है. नैनो नाइट्रोजन को यूरिया से नाइट्रोजन अलग कर तैयार किया गया है. इसके उपयोग से ग्लोबल वार्मिंग में कमी आएगी.

उन्होंने बताया कि इसके अलावा, इफको ने नैनो जिंक विकसित किया है जो जिंक सल्फेट से सस्ता होगा. वहीं इफको द्वारा विकसित नैनो कॉपर एक फंगीसाइड है. नैनो जिंक और नैनो कॉपर दोनों ही पूरी तरह से जैविक उत्पाद हैं.

यह भी पढ़ें: आखिरी मौका! रोज 9 रु खर्च कर खरीदें LIC की ये पॉलिसी, मिलेंगे ₹4.56 लाख

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2020, 7:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर