ऑक्सीजन संबंधित मशीनों को लाने वाले जहाजों को नहीं देना होगा पोर्ट चार्ज

'एमवी है नाम 86' जहाज (फोटो क्रेडिट- twitter.com/mansukhmandviya)

'एमवी है नाम 86' जहाज (फोटो क्रेडिट- twitter.com/mansukhmandviya)

कोरोना की दूसरी लहर के बीच विभिन्न राज्यों के अस्पतालों में मेडिकल ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी के मामले सामने आ रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश इस वक्त कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से जूझ रहा है. इस वजह से ऑक्सीजन (Oxygen) की डिमांड काफी बढ़ गई है. वहीं, ऑक्सीजन के संकट के बीच सरकार ने कहा है कि उसने सभी प्रमुख बंदरगाहों को ऑक्सीजन और दूसरे संबंधित उपकरण और सामान लाने वाले जहाजों से चार्ज नहीं लिए जाने का निर्देश दिया है.

बंदरगाह, जहाजरानी एवं जलमार्ग मंत्रालय ने रविवार को बयान में कहा कि उसने सभी प्रमुख बंदरगाहों को मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन, ऑक्सीजन टैंक, ऑक्सीजन बोतलें, पोर्टेबल ऑक्सीजन जेनरेटर और ऑक्सीजन कन्स्ट्रेटर लाने वाले जहाजों को बंदरगाह पर पहुंचने में प्राथमिकता देने को कहा है.

ये भी पढ़ें- कोरोना के खिलाफ जंग में रेलवे ने संभाला मोर्चा, आज रात रायगढ़ से दिल्ली के लिए रवाना होगी 4 ऑक्सीजन टैंकर्स

बंदरगाह ट्रस्ट द्वारा लगाए जाने वाले सभी चार्ज हटाने के निर्देश
बयान में कहा गया है कि ऑक्सीजन की अत्यधिक जरूरत को देखते हुए कामराजार पोर्ट लि. सहित सभी प्रमुख बंदरगाहों से कहा गया है कि वे प्रमुख बंदरगाह ट्रस्ट द्वारा लगाए जाने वाले सभी चार्ज हटा दें. इनमें जहाज से संबंधित चार्ज और स्टोरेज चार्ज भी शामिल हैं. बंदरगाह प्रमुखों से कहा गया है कि वे व्यक्तिगत रूप से लॉजिस्टिक्स परिचालन की निगरानी करें, जिससे इनकी आवाजाही में दिक्कत नहीं आए. इस तरह के जहाजों को बंदरगाह पर आने में अधिक समय नहीं लगना चाहिए और उन्हें प्राथमिकता दी जानी चाहिए

इस बीच बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग राज्य मंत्री मनसुख मांडविया ने एक ट्वीट में कहा, ''जहाज 'एमवी है नाम 86' दीनदयाल बंदरगाह पर पहुंच गया है. इसमें आक्सीजन सिलेंडर बनाने वाली स्टील सिलेंडर ट्यूब हैं. बंदरगाह के करीब पहुंचने पर इस जलपोत को किनारे पहुंचने में सबसे उच्च प्राथमिकता दी गई. देश में ऑक्सीजन कमी के बीच यह कदम उठाया गया है.''





आयात पर कस्टम ड्यूटी में छूट

सरकार ने शनिवार को कोविड टीके के साथ मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन और संबंधित उपकरणों के आयात पर सीमा शुल्क समाप्त करने की घोषणा की हे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज