अगर 40 हजार में मिले 1.5 लाख वाली केसर, तो हो जाएं सावधान, जानें क्या है पूरा मामला

सस्ती केसर की न करें खरीदारी

मेवा (Dry Fruit) हो या मसाले, अगर रेट की बात करें तो एक केसर (Saffron) ही है जो लाखों रुपये किलो के हिसाब से बिकती है. लेकिन जब लाखों रुपये कीमत की बिकने वाली यही केसर कुछ हजार रुपये किलो बिक रही हो तो लेने वालों की भीड़ लगना आम बात है.

  • Share this:
    नई दिल्ली: मेवा (Dry Fruit) हो या मसाले, अगर रेट की बात करें तो एक केसर (Saffron) ही है जो लाखों रुपये किलो के हिसाब से बिकती है. लेकिन जब लाखों रुपये कीमत की बिकने वाली यही केसर कुछ हजार रुपये किलो बिक रही हो तो लेने वालों की भीड़ लगना आम बात है. लेकिन अगर आपको इस शर्त के साथ कि, ‘1.5 लाख वाली केसर 40 हजार रुपये किलो में, लेकिन खरीदने के लिए पूरी करनी होगी यह शर्त’ तो कभी झांसे में मत आइएगा.

    आपको बता दें मेवा के नाम पर फ्रॉड (Fraud) करने वालों की यह एक चाल है. हाल ही में नोएडा पुलिस (Noida Police) ने यह फ्रॉड करने वाले गैंग के बाकी बचे सदस्यों को भी गुड़गांव (Gurgaon) से गिरफ्तार किया है.

    यह भी पढ़ें: Gold prices today: सोना 12000 रुपये हुआ सस्ता, चेक करें आज गोल्ड-सिल्वर का लेटेस्ट रेट!

    मेवा बाजार में केसर 200 से 250 रुपये प्रति ग्राम तक पहुंच जाती है. दिसम्बर और जनवरी में भी यही हुआ था. लेकिन ईरानी केसर के बाजार में आते ही केसर के दाम कम हो गए थे. और इसी ईरानी केसर का फायदा उठाकर एक गिरोह दुबई ड्राई फ्रूट के नाम से फ्रॉड कर रहा था.

    दुबई ड्राई फ्रूट गैंग दो तरह से करता था धोखाधड़ी
    जानकारों की मानें तो दुबई ड्राई फ्रूट गैंग दो तरह से धोखाधड़ी करता था. एक तरीका था माल खरीदकर और दूसरा तरीका था माल बेचकर. गैंग के सदस्य थोक कारोबार करने वाले कारोबारियों से माल खरीदने के बाद उन्हें पेमेंट नहीं करते थे. तगादा करने पर धमकी देते थे.

    दूसरे तरीके में सोशल मीडिया पर बाजार से बहुत ही कम रेट पर केसर और मेवा बेचने की बात करते थे. रेट भी ऐसे रखते थे कि आम आदमी तो छोड़िए अच्छा खासा कारोबारी भी झांसे में आ जाता था. 400 रुपये किलो के हिसाब से बादमा बेचने का दावा किया जाता था. जिस केसर की शुरुआत ही 1.5 लाख रुपये किलो से होती है वो सिर्फ 40 हजार रुपये किलो बेचने की बात कही जाती थी. लेकिन उसके शर्त यह रखते थे कि कम से कम एक किलो केसर लेनी होगी. इस शर्त के पीछे का मकसद थोक के कारोबारियों को फंसाना था. क्योंकि एक किलो जो लेने आएगा वो रिटेल का ग्राहक तो होगा नहीं, इसलिए मोटी आसामी फंस जाएगी.

    ऐसे हुआ दुबई ड्राई फ्रूट गैंग का खुलासा
    कुछ दिन पहले ही नोएडा पुलिस ने दुबई ड्राई फ्रूट गैंग के कुछ सदस्यों को गिरफ्तार किया था. दो सदस्य फरार चल रहे थे. गैग का शिकार बने कुछ कारोबारियों ने पुलिस से इनकी शिकायत की थी. इसी शिकायत के आधार पर पुलिस जाल बिछाते हुए एक-एक कर गैंग के सभी सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है.

    यह भी पढ़ें: इस पौधे को लगाकर हर महीने करें 1.20 लाख की कमाई, जानें कैसे मिलेगा फायदा

    रविवार को नोएडा पुलिस ने फरार चल रहे आकाश दीप शर्मा उर्फ हैरी पुत्र स्व जगदीश चन्द्र शर्मा निवासी 65 उपल साउथ एण्ड सोना रोड गुड़गांव मूल पता फरीदनगर मकान नंबर 586 नंकाना साहिब रोड संगरुर पंजाब और पंकज प्रकाश पुत्र राम सिंह निवासी मकान नंबर 22 आनन्द गार्डन गुड़गांव, हरियाणा को उपल साउथ गुड़गांव से गिरफ्तार कर लिया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.