• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • खरीद लें जरूरत की दवाइयां, आज बंद रहेंगी दवा की दुकानें

खरीद लें जरूरत की दवाइयां, आज बंद रहेंगी दवा की दुकानें

(File Photo:PTI)

(File Photo:PTI)

दवा दुकानदारों की एक शीर्ष संस्थान ने ऑनलाइन दवा बिक्री को रेग्युलराइज़ करने के केंद्र के कदम के खिलाफ शुक्रवार को एक दिन की राष्ट्रव्यापी हड़ताल की घोषणा की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    दवा दुकानदारों के एक शीर्ष संस्थान ने ऑनलाइन दवा बिक्री को रेग्युलराइज़ करने के केंद्र के कदम के खिलाफ शुक्रवार को एक दिन की राष्ट्रव्यापी हड़ताल की घोषणा की है. ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट (एआईओसीडी) ने सरकार के फैसले का विरोध किया है और कहा कि ई-फार्मेसी से उनके बिज़नेस पर खतरा उत्पन्न हो गया है और इससे दवाओं के दुरुपयोग का जोखिम पैदा हो सकता है.

    एआईओसीडी के संगठन सचिव और रिटेल डिस्ट्रब्यूटर्स केमिस्ट्स एसेासिएशन के अध्यक्ष संदीप नांगिया ने कहा, ‘एआईओसीडी ने ज्ञापनों के माध्यम से प्रशासन और संबंधित विभागों से बार-बार अपील की है. जिस तरह से ई-फार्मेसी और ऑनलाइन दवाओं की अवैध बिक्री के ढेरों मामले सामने आ रहे हैं उससे मामले की गंभीरता जगजाहिर है.’

    (ये भी पढ़ें- आयुष्मान भारत: गोल्डन कार्ड बनवाने में लाभुकों को हो रही हैं परेशानी)

    उन्होंने कहा, ‘एआईओसीडी पहले ही दो बार भारत बंद कर चुका है. यदि अपील पर सरकार का सकारात्मक जवाब नहीं आता है तो हमारे पास राष्ट्रव्यापी बंद के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं होगा. 28 सितंबर को देशभर में दवा की दुकानें बंद रहेंगी. ’’

    दरअसल, दवा के दामों का विनियमन सरकार करती है. ऑनलाइन पोर्टल 70 फीसद तक छूट देते हैं जबकि थोक विक्रेताओं की दुकानों पर दस फीसद छूट मिलती है.

    (ये भी पढ़ें- कमाई का मौका भी देगी आयुष्मान भारत योजना, हर महीने 90 हजार तक की हो सकती है इनकम)

    एआईओसीडी के सदस्यों का आरोप है कि ई-फार्मेसी से दवाओं के गलत इस्तेमाल और नकली दवाओं की बिक्री को बढ़ावा मिलेगा. बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ई-फार्मेसी द्वारा दवाओं की बिक्री पर मसविदा नियमावली लाई है जिसका लक्ष्य भारत में दवाओं की बिक्री को रेग्युलराइज़ करना तथा मरीजों को प्रामाणिक ऑनलाइन पोर्टलों से असली दवाएं उपलब्ध कराना है.

    (ये भी पढ़ें- मोदी सरकार के लिए बनें 'आयुष्मान मित्र', 90 हजार तक होगी सैलरी)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज