Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    दिवाली से लौटंगे Railway के अच्छे दिन! सबसे ज़्यादा बिहार से जुड़ी ट्रेनों की मांग, आम दिनों में 90% सीटें खाली

    दिवाली से लौटंगे Railway के अच्छे दिन! बिहार से जुड़ी ट्रेनों की ज्यादा मांग
    दिवाली से लौटंगे Railway के अच्छे दिन! बिहार से जुड़ी ट्रेनों की ज्यादा मांग

    दशहरा, दिवाली और छठ के समय कई ट्रेनों की सीटें फुल हो चुकी हैं. आम दिनों में मुसाफिरों के लिए 12 हज़ार ट्रेनें चलाने वाला रेलवे फिलहाल महज़ 350 के क़रीब स्पेशल ट्रेने चला रहा है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: September 22, 2020, 6:37 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. आने वाले त्योहारों के साथ ही रेलवे के अच्छे दिन लौटने की उम्मीद दिख रही है. मौजूदा समय में भले ही रेलवे (Railway) की ज़्यादातर ट्रेनें खाली चल रही हैं. लेकिन दशहरा, दिवाली और छठ के समय कई ट्रेनों की सीटें फुल हो चुकी हैं. आम दिनों में मुसाफिरों के लिए 12 हज़ार ट्रेनें चलाने वाला रेलवे फिलहाल महज़ 350 के क़रीब स्पेशल ट्रेने चला रहा है. इनमें से भी कई ट्रेनें खाली चल रही हैं लेकिन त्योहारों के समय इसकी मांग काफी बढ़ी हुई है और रेलवे ज़ल्द कुछ और स्पेशल ट्रेनें शुरू कर सकता है. हालांकि आंकड़े ये भी बताते हैं कि जिन शहरों के बीच हवाई सेवा मौजूद है वहां लोग ट्रेन के बजाय फ़्लाइट से यात्रा ज़्यादा पसंद कर रहे हैं.

    आने वाले दिनों में सबसे पहले 25 अक्टूबर को दशहरे का त्योहार है. हर पश्चिम बंगाल और उसके आसपास का सबसे ख़ास और सबसे बड़ा त्योहार है. लेकिन इस हफ़्ते हावड़ा तक जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस की सभी क्लास में बर्थ अभी भी खाली है. आलम यह है कि 19 से 23 अक्टूबर के बीच इस ट्रेन की आधी सीटें अभी भी खाली हैं. महंगा किराया और कोरोना के खौफ़ में लोग इस रूट पर ट्रेन की जगह हवाई यात्रा को ज़्यादा पसंद कर रहे हैं. क्योंकि दशहरे के त्योहार के समय इसी रूट पर चलने वाली पूर्वा एक्सप्रेस की सभी सीटें बुक हो चुकी हैं.

    जिन इलाकों में दशहरे का त्योहार बहुत बड़ा त्योहार नहीं माना जाता है. वहां ट्रेनों की हालत चिंताजनक बनी हुई है. मसलन 16 से 25 अक्टूबर के बीच नई दिल्ली-लखनऊ जं. के बीच चलने वाली स्पेशल ट्रेन लगभग खाली पड़ी है. यही हाल नई दिल्ली - देहरादून, अमृतसर-हरिद्वार, निज़ामुद्दीन- कोटा, दिल्ली-अहमदाबाद, निज़ामुद्दीन- जबलपुर, निज़ामुद्दीन- हबीबगंज़, नई दिल्ली- प्रयागराज, देहरादून -कोटा, जैसी दर्जनों ट्रेनों की है. इन ट्रेनों की सीटें कभी महीनों पहले बुक हो जाती थीं, लेकिन फिलहाल इनकी 98-99% सीटें खाली पड़ी हैं.



    रेलवे के लिए सबसे बड़ी राहत की ख़बर दिवाली का त्योहार लेकर आ रहा है. हालांकि इस दौरान कई रूट्स की ट्रेनों में लोगों ने दिलचस्पी दिखाई है. लेकिन छठ की वजह से बिहार से जुड़ी ट्रेनों में ज़बरदस्त बुकिंग हुई है. और यहीं से रेलवे को उम्मीद है कि उसके अच्छे दिन ज़ल्द ही लौटेंगे. मसलन इस दौरान
    नई दिल्ली - राजेन्द्र नगर
    नई दिल्ली - भागलपुर
    नई दिल्ली - राजगीर
    अमृतसर - नागपुर
    नई दिल्ली - सहरसा
    आनंद विहार - मुज़फ़्फ़रपुर
    नई दिल्ली - जयनगर
    नई दिल्ली - दरभंगा
    अृमतसर - जयनगर
    आनंद विहार - रक्सौल
    नई दिल्ली - वाराणसी
    नई दिल्ली - गा़ज़ीपुर और
    अमृतसर - कोलकाता

    के बीच चलने वाली ट्रेनों की सभी सीटें बुक हो चुकी हैं और इनमें वेटिंग लिस्ट की लंबी फेहरिस्त हो चुकी है. इसलिए इन रूटों पर भारी मांग को देखकर रेलवे जल्द ही क़रीब 100 नए स्पेशल ट्रेनें शुरू कर सकता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज