• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • अरविंद सुब्रमणियन ने ग्लोबल रेटिंग एजेंसियों पर साधा निशाना, बताया खराब स्तर का

अरविंद सुब्रमणियन ने ग्लोबल रेटिंग एजेंसियों पर साधा निशाना, बताया खराब स्तर का

Photo- PTI

Photo- PTI

भारत के मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमणियन ने ग्लोबल रेटिंग एजेंसियों को खराब स्तर का बताया है.

  • Share this:
    भारत के मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमणियन ने ग्लोबल रेटिंग एजेंसियों को खराब स्तर का बताया है. इन एजेंसियों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि भारत और चीन के मामले में ये एजेंसियां अलग-अलग मानदंड अपना रही हैं. उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के बुनियादी कारकों में सुधार के बावजूद भारत की रेटिंग में सुधार नहीं किया गया है.

    उन्होंने कहा कि ग्लोबल एजेंसियों ने भारत को सबसे निचले ग्रेड में रखा है, इस वजह से ग्लोबल मार्केट में ऋण की लागत अधिक पड़ती है. सुब्रमणियन ने आगे कहा कि चीन और भारत को लेकर एजेंसियों का नजरिया असंगत है, यह उचित नहीं है. उन्होंने सवाल उठाया कि खराब मानकों वाली इन एजेंसियों को आखिर इतनी गंभीरता से क्यों लिया जाता है?

    सुब्रमणियन ने वीकेआरवी स्मृति व्याख्यान में कहा कि घरेलू मोर्चे पर देखा जाए, तो विशेषज्ञों के विश्लेषण और आधिकारिक फैसलों में स्पष्ट संबंध है. उन्होंने कहा कि नीतिगत फैसलों से पहले विशेषज्ञों के आंकलन महत्वपूर्ण होते हैं, लेकिन एक बार फैसला लेने के बाद यह गौर करने वाली बात होती है कि किस तरह विश्लेषण को लेकर बोली बदलती है. विश्लेषक आधिकारिक फैसले को तर्कसंगत ठहराने के लिये पीछे हटने लगते हैं.

    पिछले सप्ताह आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने भी ग्लोबल एजेंसियों के प्रति नाराजगी व्यक्त की थी. उन्होंने कहा था कि उनकी रेटिंग जमीनी सच्चाई से कोसों दूर है. उन्होंने तो रेटिंग एजेंसियों को आत्म निरीक्षण करने की हिदायत भी दे दी थी.

    भारत पहले भी रेटिंग एजेंसियों के तौर तरीकों पर सवाल उठाता रहा है. विशेष रूप से एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स पर सवाल उठे हैं जिसने बढ़ते कर्ज और घटती वृद्धि दर के बावजूद चीन की रेटिंग को एए- रखा है. वहीं भारत की रेटिंग को कबाड़ या जंक से सिर्फ एक पायदान ऊपर रखा गया है.

    मूडीज और फिच ने भी इसी तरह की रेटिंग दी है. इसके लिए इन एजेंसियों ने एशिया में सबसे अधिक राजकोषीय घाटे का उल्लेख किया है जिससे भारत की सॉवरेन रेटिंग प्रभावित हुई है.

    ये भी पढ़ें-

    SBI एटीएम से हर ट्रांजेक्शन पर देना होगा 25 रुपए शुल्क !

    अमेजन इंडिया की सुपरसेल में कई पॉपुलर ब्रांड्स पर छूट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज