मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन का कार्यकाल एक साल बढ़ा

मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन

मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन का कार्यकाल एक साल बढ़ा

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार (चीफ इकॉनमिक एडवाइडर) अरविंद सुब्रमण्यन का कार्यकाल एक साल और बढ़ा दिया गया है. सुब्रमण्यम को आर्थिक सलाहकार के रूप में तीन साल की अवधि के लिए 16 अक्टूबर 2014 को नियुक्त किया गया था. अब उनका कार्यकाल अक्टूबर 2018 तक बढ़ा दिया गया है. आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से लगातार मीडिया में अरविंद सुब्रमण्यन को लेकर खबर आ रही थी. हालांकि, वित्त मंत्रालय ने इन खबरों का खंडन कर दिया है.



    आईएमएफ में भी कर चुके है काम
    आईआईएम अहमदाबाद के छात्र रह चुके सुब्रमण्यन ऐसे समय में वित्त मंत्रालय में आए हैं. सेंट स्टीफंस कालेज से ग्रेजुएट सुब्रमण्यन भारत सरकार को सलाह देते रहे हैं. वह जी-20 पर वित्त मंत्री के विशेषज्ञ समूह के सदस्य भी रहे हैं. सुब्रमण्यन ने कुछ समय अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) अर्थशास्त्री के पद पर भी काम किया है.

    ...जब सुब्रह्मण्यम स्वामी ने किया विरोध
    पिछले साल भारतीय जनता पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा था चीफ इकॉनमिक एडवाइडर (सीईए) अरविंद सुब्रमण्यम सूक्ष्म दिमाग के मैनेजमेंट डिग्री होल्डर हैं और ये लोग अमेरिका की तरफ से थोपे गए हैं. स्वामी ने कहा कि अमेरिकियों ने हम पर अरविंद सरीखे मैनेजमेंट डिग्री होल्डर्स थोपे हैं जो सूक्ष्म दिमाग के हैं जब अर्थव्यवस्था सामान्य संतुलन है.

    यह भी पढ़े
    अरविंद सुब्रमणियन ने ग्लोबल रेटिंग एजेंसियों पर साधा निशाना, बताया खराब स्तर का
    RBI-सरकार के बीच महंगाई के आंकड़ों पर टकराव

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.