चीन ने अपने बैंकों और पेमेंट कंपनियों पर क्रिप्टो करेंसी की लेन-देन से जुड़ी सभी तरह की सर्विस देने पर बैन लगाया

 cryptocurrency trade ban in china

cryptocurrency trade ban in china

चीन ने अपने वित्तीय संस्थानों और पेमेंट कंपनियों को क्रिप्टो करेंसी लेन-देन से संबधित सेवाओं देने पर बैन लगा दिया है. साथ ही, निवेशकों को क्रिप्टो ट्रेडिंग को लेकर चेतावनी दी है.

  • Share this:

चीन ने अपने वित्तीय संस्थानों और पेमेंट कंपनियों को क्रिप्टो करेंसी लेन-देन से संबधित सेवाओं देने पर बैन लगा दिया है. साथ ही, निवेशकों को क्रिप्टो ट्रेडिंग को लेकर चेतावनी दी है. चीन ने क्रिप्टो प्रतिबंध के तहत कहा है कि बैंकों और ऑनलाइन भुगतान चैनलों सहित ऐसे संस्थानों को ग्राहकों को पंजीकरण, व्यापार, clearing and settlement, क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ी कोई भी सेवा प्रदान नहीं करनी चाहिए.

चीन की तीन इंडस्ट्री बॉडी ने एक संयुक्त में बयान में कहा कि क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें आसमान छू रही हैं और गिर गई हैं. इसमें सट्टा व्यापार तेजी से एक्टिव है. इससे आम लोगों की संपत्ति की सुरक्षा पर गंभीर खतरा मंडरा है. साथ ही, यह सामान्य इकोनॉमिक और फाइनेंशियल नियमों को भी तोड़ कर रहा है.

व्यक्तिगत रूप से रख सकते हैं क्रिप्टोकरेंसी

चीन ने क्रिप्टो एक्सचेंज और initial coin offerings (ICOs) को बैन किया है लेकिन व्यक्तिगत रूप से किसी व्यक्ति को क्रिप्टोकरेंसी से प्रतिबंधित नहीं किया है. कोई भी संस्थान क्रिप्टोकरेंसी की सर्विस और सेविंग नहीं दे सकते और ना ही क्रिप्टो करेंसी से संबंधित कोई फाइनेंशियल प्रोडक्ट इश्यू नहीं कर सकते हैं.
यह भी पढ़ें- रतन टाटा के सपोर्ट वाला ये स्टार्टअप बना इस साल का भारत का 13वां यूनिकॉर्न

पहले भी चीन क्रिप्टोकरेंसी के खिलाफ कदम उठा चुका है

वैसे डिजिटल करेंसी के खिलाफ चीन का यह पहला कदम नहीं है. साल 2017 में चीन ने अपने लोकल क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज को बंद कर दिया था. ग्लोबल बिटक्वाइन ट्रेडिंग का लगभग 90 फिसदी सट्टा मार्केट इससे प्रभावित हुआ.



जून 2019 में, पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने एक बयान जारी कर कहा कि वह सभी घरेलू और विदेशी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों और इनिशियल कॉइन ऑफरिंग वेबसाइटों तक पहुंच को रोकेगा. इसका उद्देश्य विदेशी एक्सचेंजों पर प्रतिबंध के साथ सभी क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग पर रोक लगाना है.

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर अस्पष्टता ज्यादा

हाल के दिनों में क्रिप्टोकरेंसी काफी चर्चा में है. बिटक्वाइन की तेजी से बढ़ती- घटती कीमतों से इस मार्केट में काफी अस्थिरता है. टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने पहले टेस्ला के लिए बिटक्वाइन में पेमेंट लेने की बात कही थी, फिर मना कर दिए. साथ ही कई देशों में इसको प्रतिबंधित किया गया है. हाल ही में मार्केट कई और नई क्रिपटोकरेंसी आने की चर्चा है. लिहाजा क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में अभी काफी अस्पष्टता है और सट्टा मार्केट जोरो पर है.

यह भी पढ़ें- UAN के बिना भी चेक कर सकते हैं PF बैलेंस, पैसे भी निकाल सकते हैं..जानें क्या है प्रोसेस?

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज