India-China Tension: कोरोना संकट में भी चीन भारत से जमकर खरीद रहा स्टील, जानिए क्या है खास वजह?

पिछले 6 महीने में चीन ने भारत से सबसे ज्यादा स्टील खरीदा है.
पिछले 6 महीने में चीन ने भारत से सबसे ज्यादा स्टील खरीदा है.

भारत और चीन में तनाव (India-China Tension) भरा माहौल बना हुआ है. लेकिन, इन सबके बावजूद चीन भारत से जमकर स्टील खरीद रहा है. भारत का स्टील एक्सपोर्ट अप्रैल और सितंबर के बीच पिछले साल की तुलना में कई गुना बढ़ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 29, 2020, 2:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: भारत और चीन में तनाव (India-China Tension) भरा माहौल बना हुआ है. लेकिन, इन सबके बावजूद चीन भारत से जमकर स्टील खरीद रहा है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, भारत का स्टील एक्सपोर्ट अप्रैल और सितंबर के बीच पिछले साल की तुलना में कई गुना बढ़ गया है. करेंट फाइनेंशियल ईयर में शुरुआती 6 महीनों में स्टील एक्सपोर्ट का सिर्फ 29 फीसदी अकेले चीन को हुआ है. कोरोना संकट के बीच भी स्टील के एक्सपोर्ट में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है.

चीन ने खरीदा सबसे ज्यादा स्टील
न्यूज एजेंसी Reuters के मुताबिक,कोरोना संकट के बीच में भी भारत का स्टील एक्सपोर्ट अप्रैल और सितंबर के बीच पिछले छह साल में उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है. पिछले 6 महीने में चीन ने भारत से सबसे ज्यादा स्टील खरीदा है.

यह भी पढ़ें: Bullet Train: पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट को पूरा करेगी Larsen and Toubro, सिर्फ 2 घंटे में पहुंचेंगे अहमदाबाद से मुंबई
1.9 मिलियन टन स्टील हुआ एक्सपोर्ट


रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, चीन ने अप्रैल-सितंबर के दौरान भारत के कुल 6.5 मिलियन टन स्टील के एक्सपोर्ट्स का 1.9 मिलियन टन खरीदा है जबकि चीन ने पिछले वित्त वर्ष की समान छह महीने की अवधि के दौरान भारत से सिर्फ 2,500 टन का आयात किया था. वियतनाम भारतीय स्टील का दूसरा सबसे बड़ा आयातक है, जिसने 1.6 मिलियन टन की खरीद की है.

किस टाइप की स्टील का किया निर्यात
आपको बता दें भारत ने जिस तरह की स्टील का निर्यात किया है उसमें पाइप, ऑटोमोबाइल पार्ट्स, इंजीनियरिंग और सैन्य उपकरण बनाने वाली स्टील शामिल है.



चीन खरीद रहा इतनी ज्यादा स्टील
चीन ऐसे समय इतनी भारी संख्या में भारतीय स्टील को खरीद रहा है, जबकि भारत ने कई चीनी प्रोडक्स पर बैन लगा दिया है. इतना ही नहीं भारत ने चीन से आने वाले विदेशी निवेश की जांच भी बड़े स्तर पर बढ़ा दी है. एक तरफ भारत चीन के निवेश को लेकर सतर्कता बरत रहा है, तो दूसरी तरफ चीन इन सबकी उपेक्षा कर भारत से जमकर स्टील खरीद रहा है. भारतीय कारोबारी चीन के इस कदम से काफी खुश भी हैं और हैरान भी.

क्यों भारतीय स्टील को खरीदने को मजबूर है चीन?
न्यूज एजेंसी Reuters को कारोबारियों ने बताया कि स्टील का एक्सपोर्ट बढ़ने का मुख्य कारण कम कीमत है. भारत की स्टील कंपनियों के पास उत्पादन की बड़ी खेप मौजूद थी, क्योंकि कोरोना वायरस के चलते घरेलू मांग में भारी गिरावट आई है, जिसकी वजह से सामान नहीं बिका. इस मौका का फायदा उठाने के लिए भारतीय स्टील कंपनियों ने अपने सरप्लस से छुटाकारा पाने के लिए सस्ते दाम पर स्टील बेचना शुरू कर दिया है. इससे कंपनियों को बड़ा फायदा हुआ है. उनकी बिक्री जमकर बढ़ गई है.

यह भी पढ़ें: 1 नवंबर से बदल जाएंगे आपके पैसों से जुड़े ये 7 नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर

वियतनाम है नियमित खरीदार
बता दें वियतनाम भारतीय स्टील का नियमित खरीदार है, लेकिन चीन के बड़े खरीदार के तौर पर उभार से भारत के पारंपरिक मार्केट इटली और बेल्जियम पीछे छूट गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज