लाइव टीवी

केंद्रीय सूचना आयोग ने RBI को भेजा कारण बताओ नोटिस, जानें क्या है मामला?

भाषा
Updated: December 5, 2019, 8:28 PM IST
केंद्रीय सूचना आयोग ने RBI को भेजा कारण बताओ नोटिस, जानें क्या है मामला?
सीआईसी ने रिजर्व बैंक को उसके लापरवाह रवैये के लिए कारण बताओ नोटिस भेजा

RTI आवेदक गिरीश मित्तल ने रिजर्व बैंक (RBI) से 2011 से निजी बैंक की निरीक्षण रिपोर्ट मांगी थी. एचडीएफसी बैंक ने इस पर आपत्ति जताई थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय सूचना आयोग (CIC) ने एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) की निरीक्षण रिपोर्ट के खुलासे से संबंधित मामले में उसके समक्ष पेश नहीं होने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. सीआईसी ने इसे केंद्रीय बैंक का लापरवाह रवैया करार दिया है.

नियामक ने रिजर्व बैंक के बैंकिंग निगरानी विभाग के केंद्रीय लोक सूचना अधिकारी (Central Public Information Officer) से पूछा है कि उपस्थित नहीं होने पर उनके खिलाफ क्यों नहीं पारदर्शिता कानून के प्रावधानों के तहत दंडात्मक प्रावधानों का इस्तेमाल किया जाए.

सूचना आयुक्त सुरेश चंद्र ने एक कड़े आदेश में कहा कि इस मामले के तथ्यों और परिस्थितियों के उल्लेख के बाद सूचना अधिकारी के उपस्थित नहीं होने की वजह से इनकी पुष्टि नहीं हो सकी.

ये भी पढ़ें: 31 दिसंबर तक जरूर कर लें ये काम, वरना बैंक खाता हो जाएगा फ्रीज, नहीं निकाल पाएंगे पैसे

एचडीएफसी बैंक की ओर से प्रीति रंजन दास ने आयोग में आरटीआई आवेदक गिरीश मित्तल को सूचना के खुलासे के खिलाफ अपील की थी. मित्तल ने रिजर्व बैंक से 2011 से निजी बैंक की निरीक्षण रिपोर्ट मांगी थी. एचडीएफसी बैंक ने इस पर आपत्ति जताई थी. हालांकि, सीपीआईओ ने बैंक की जोखिम आकलन रिपोर्ट का खुलासा करने का आदेश दिया था.

दास ने पहले सीपीआईओ के वरिष्ठ अधिकारी के समक्ष पहली अपील को चुनौती दी थी जिसे खारिज कर दिया गया था. बाद में उन्होंने सीआईसी से रिजर्व बैंक के सीपीआई द्वारा जारी आदेश को रद्द करने की अपील की थी.

ये भी पढ़ें:आप भी हैं SBI के ग्राहक तो हो जाएं खुश, इस ऐलान के बाद जमकर होगा आपका फायदा!
बैंक खाते में आपके पैसों को सेफ करने के लिए RBI ला रहा है नए नियम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 7:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर