लाइव टीवी

जनवरी 2020 से इस क्रेडिट कार्ड पर बढ़ने जा रही है ब्याज दर, जानें कितना हुआ इजाफा

News18Hindi
Updated: December 16, 2019, 4:00 PM IST
जनवरी 2020 से इस क्रेडिट कार्ड पर बढ़ने जा रही है ब्याज दर, जानें कितना हुआ इजाफा
सिटीबैंक ने क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दरें में बढ़ोतरी करने का ऐलान किया है.

सिटीबैंक ने 'सिटीबैंक इंडिया ऑयल क्रेडिट कार्ड' धारकों को जानकारी दी है कि जनवरी 2020 से ब्याज दरों को रिवाइज किया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 16, 2019, 4:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप भी अपने सिटीबैंक क्रेडिट कार्ड (Citibank Credit Card) का पेमेंट समय पर नहीं करते हैं तो यह खबर आपको जरूर पढ़नी चाहिए. बैंक ने सिटीबैंक इंडियन ऑयल क्रेडिट कार्ड (Citibank Indian Oil Credit Card) धारकों को जानकारी देते हुए कहा है कि ब्याज दरों ​को रिवाइज किया जा रहा है. बैंक की तरफ से दी गई जानकारी में कहा गया है कि सिटीबैंक क्रेडिट कार्ड पर रिवाइज रिवाइज किए गए (Interest Rate on Credit Card) को जनवरी 2020 से लागू कर दिया जाएगा. नया ब्याज दर ओपनिंग बैलेंस के साथ-साथ नए ट्रांजैक्शन पर लागू होगा.

क्या होंगी नई बयाज दरें
वर्तमान में, सिटीबैंक द्वारा चार्ज किए जाने वाले ब्याज दर को चार स्लैब में बांटा गया है. इनमें 37.2 फीसदी, 39 फीसदी, 40.8 फीसदी और 42 फीसदी का स्लैब शामिल है. बैंक द्वारा ब्याज दरों को रिवाइज किए जाने के बाद जनवरी 2020 से नई दरें 42 फीसदी, 42 फीसदी, 42 फीसदी और 43.2 फीसदी होगा. मौजूदा समय में प्रोमोशन रेट्स पर होने चलने वाले क्रेडिट कार्ड्स पर भी 42 फीसदी और 43.2 फीसदी की दर से ही ब्याज लगेगा. हालांकि, यह दर किसी डिफॉल्ट की सूरत में ही लगेगा.

ये भी पढ़ें: पहली बार रेलवे ने स्टेशन पर लगाई हवा से पानी बनाने की मशीन, 5 रुपये में खरीदें एक लीटर पानी



बता दें कि क्रेडिट कार्ड धारक के लिए यह जरूरी है कि वो कुल आउटस्टैंडिंग बैलेंस का मिनिमम बैलेंस समय से जमा कर दें. यह कुल आउटस्टैंडिंग बैलेंस का केवल 5 फीसदी ही होता है. इस रकम को जमा नहीं करने की सूरत में पेनाल्टी के तौर पर 300 रुपये या इससे अधिक देना पड़ सकता है. हालांकि, ऐसा करने के लिए आपको दो बातों का ख्याल रखना चाहिए.

>> जब तक आपने कुल आउटस्टैंडिंग बैलेंस नहीं जमा किया है, तब इंटरेस्ट फ्री अवधि लैप्स होती रहती है. आमतौर पर कुछ कार्ड्स पर यह अवधि 51 दिनों की होती है. ऐसे में अगर आपने कुल बकाया रकम जमा नहीं किया है और फिर भी कोई खरीदारी करते हैं तो इस पर आपको इंटरेस्ट फ्री अवधि का लाभ नहीं मिलेगा.

>> ब्याज चार्ज: अगर आप हर महीने क्रेडिट रिवॉल्व करते हैं तो एक बिलिंग साइकिल में जमा रकम पर मासिक आधार पर ब्याज देना होगा. ऐसे में सालाना तौर पर आपको 40 फीसदी तक ब्याज देना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें: RBI ने PNB के फंसे कर्ज में पाया अंतर, निवेशकों के डूबे 1200 करोड़ रुपये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 3:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर