अपना शहर चुनें

States

भारी कर्ज़ में दबी एयर इंडिया को बेचना ही होगा- हरदीप सिंह पुरी

 एअर इंडिया को बेचने की प्रक्रिया जारी है.
एअर इंडिया को बेचने की प्रक्रिया जारी है.

हरदीप सिंह पुरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया, एअर इंडिया को बेचने की प्रक्रिया जारी है. अब इसके प्राइवेटाइजेशन के अलावा कोई और दूसरा ऑप्शन नहीं हैं. क्योंकि कंपनी भारी कर्ज में दबी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2019, 1:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारी-भरकम कर्ज़ के तले दबी सरकारी एविएशन कंपनी एअर इंडिया पर बहुत ज्यादा कर्ज है. इसलिए अब इसे ढोना बहुत मुश्किल है. नागर विमानन मंत्री (Civil Aviation Minister) हरदीप सिंह पुरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया, कि एअर इंडिया को बेचने की प्रक्रिया जारी है. अब इसके प्राइवेटाइजेशन के अलावा कोई और दूसरा ऑप्शन नहीं हैं. क्योंकि कंपनी भारी कर्ज में दबी है. आयकरदाताओं का पैसा समुचित तरीके से इस्तेमाल किया जाना चाहिए. ऐसे में सरकार जब इसे खर्च कर रही है तो यह देखना होगा कि कब तक इसे जारी रखा जा सकता है.

आपको बता दें कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान सरकार की तरफ से कहा गया था कि संकट के दौर से गुजर रही एअर इंडिया को अगर कोई नया खरीदार नहीं मिला तो इसे बंद करना पड़ सकता है. छोटी-छोटी पूंजीगत व्यवस्था की मदद से इस एअर इंडिया का परिचालन जारी रखना मुश्किल हो रहा है.

ये भी पढ़ें-1 जनवरी से केरल में सिंगल यूज प्लास्टिक पर बैन, नियम तोड़ने पर लगेगा ₹50 हजार का जुर्माना




हरदीप सिंह पुरी का कहना है कि एअर इंडिया एक राष्ट्रीय संपति है. ये महाराजा ब्रैंड के तौर पर दुनिया में जानी जाती है. इसका सेफ्टी रिकॉर्ड और रेपुटेशन बहुत अच्छा है. लेकिन अब एअर इंडिया पर बहुत ज्यादा कर्ज है और इसे ढोना बहुत मुश्किल हो रहा है.

ऐसे अब हमारे पास इसका निजीकरण करने के अलावा कोई और ऑप्शन नहीं है. 2 साल पहले इसकी शुरुआत की गई थी. हालांकि, इसमें सफल नहीं हो पाए हमनें पिछले अनुभव के आधार पर आगे इसमें काम कर रहे है.

EOI जारी करेंगे इसके बाद इसके खरीददारों की तलाश की जायेगी. हम चाहते है कि कोई स्वदेशी कंपनी इसे खरीदें. एअर इंडिया को निजीकरण करने की प्रक्रिया जारी है  फ़िलहाल नहीं कहा जा सकता कि कब तक होगा. मार्च या जून में होगा कहा नहीं जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज