फ्लाइट के किराए को लेकर उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी का बड़ा बयान, कहीं ये बातें

नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी

नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि अगर फ्लाइट के टिकटों की डिमांड बढ़ती है तो इसकी कीमतों पर लगी कैप को 24 नवंबर से पहले भी हटाया जा सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली.  कोरोना संक्रमण (Coronavirus Pandemic) को देखते हुए घरेलू रूट्स (Domestic Flights) पर फ्लाइट टिकटों के दाम पर जो कैप लगाया गया था, उसे अब 24 नवंबर तक बढ़ा दिया गया है. यानी अब एयरलाइंस कंपनियां 24 नवंबर तक किराया नहीं बढ़ा सकेंगी. लेकिन अब नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Civil Aviation Minister Hardeep Singh Puri) ने कहा है कि अगर फ्लाइट के टिकटों की डिमांड बढ़ती है तो इस पर लगे कैप को 24 नवंबर से पहले भी हटाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि हवाई टिकटों पर अंकुश समय की जरूरत और जमीनी हकीकत को देखकर लगाया गया था, लेकिन अगर जरूरत पड़ी तो इसे समय से पहले भी हटाया जा सकता है.

हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि जैसे ही हवाई टिकटों की डिमांड एयरलाइन कंपनियों की कुल क्षमता का 50 फीसदी हो जाएगा, वैसे ही हम हवाई किराए से मिनिमम और मैक्सिमम कैप को खत्म कर देंगे.

उन्होंने कहा, मुझे उम्मीद है कि दीवाली से पहले हवाई टिकटों की डिमांड 55 फीसदी तक पहुंच जाएगी. बता दें कि भारतीय घरेलू एयरलाइन कंपनियों की क्षमता रोज 3 लाख से अधिक यात्रियों को ले जाने की है.



अगर रोज 1.5 लाख यात्री यात्रा करेंगे तो इनकी क्षमता 50 फीसदी तक पहुंच जाएगी. हालांकि, 03 अगस्त तक औसतन 78 हजार यात्रियों ने ही हवाई जहाज से यात्रा की है.

हवाई जहाज के टिकटों के दाम बढ़ाने की कोई योजना नहीं- हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि हवाई जहाज के टिकटों के दाम बढ़ाने की अभी कोई योजना नहीं है. आपको बता दें कि पिछले दो महीनों में हवाई जहाज के ईंधन (ATC Fuel) की कीमतों में दोगुने से अधिक की वृद्धि हुई है.

जानिए सरकार की ओर से तय हवाई किराए के बारे में...

सरकार ने किरायों की कैपिंग फ्लाइट्स की अवधि के आधार पर की थी. एविएशन रेग्यूलेटर ने 21 मई को मिनिमम और मैक्सिमम किराया तय करते हुए यात्रा अवधि के आधार पर किराए की सात दरें घोषित की थीं.

40 मिनट से कम अवधि वाले डोमेस्टिक फ्लाइट्स के लिए मिनिमम किराया 2,000 रुपये और मैक्सिम किराया 6,000 रुपये तय किया गया था. 40 से 60 ​मिनट के लिए मिनिमम किराया 2,500 रुपये और मैक्सिमम किराया 7,500 रुपये था.

60 से 90 मिनट की फ्लाइट के लिए मिनिमम किराया 3,000 रुपये और मैक्सिम किराया 9,000 रुपये तय किया गया था. 90 से 120 मिनट के लिए यह लिमिट 3,500 और 10,000 रुपये है.

120 मिनट से 150 मिनट की अवधि वाले फ्लाइट्स के​ लिए किराया 4,500 रुपये से लेकर 13,000 रुपये के बीच निर्धारित की गई है. 150 मिनट से लेकर 180 मिनट की फ्लाइट के लिए न्यूनतम किराया 5,500 रुपये और अधिकतम 15,570 रुपये है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज