Civil Aviation Ministry का बड़ा फैसला, 24 फरवरी तक नहीं बढ़ेगा हवाई यात्रा किराया

सिविल एविएशन मंत्रालय ने इस फेयर बैंड्स की व्यवस्था का ऐलान 21 मई को किया था.
सिविल एविएशन मंत्रालय ने इस फेयर बैंड्स की व्यवस्था का ऐलान 21 मई को किया था.

Civil Aviation Ministry की ओर से यह व्यवस्था इसलिए की गई ताकि लॉक डाउन (Lock down) के बाद अचानक से शुरू की गई घरेलू विमान सेवा में एयरलाइन्स कंपनियां (Airlines companies) यात्रियों से मनमाना किराया ना वसूल करें. Civil Aviation Ministry ने इस फेयर बैंड्स की व्यवस्था का ऐलान 21 मई को किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 7:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. घरेलू हवाई यात्रा करने वाले मुसाफ़िरों के लिए बड़ी खुशखबरी है. कोरोना काल में नए क़ायदा क़ानून के साथ संचालित किए जा रहे घरेलू विमानों के लिए यात्रा किराया सीमा (Fare Bands) की अवधि को 24 फरवरी तक बढ़ा दिया गया है. केंद्र सरकार की ओर से यह व्यवस्था इसलिए की गई ताकि लॉक डाउन के बाद अचानक से शुरू की गई घरेलू विमान सेवा  में एयरलाइन्स कंपनियां यात्रियों से मनमाना किराया ना वसूल करें. केंद्र सरकार ने इस फेयर बैंड्स की व्यवस्था का ऐलान 21 मई को किया था.



सिविल एविएशन मंत्रालय कर रहा है प्रतिदिन निगरानी- सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने कहा है कि वह प्रतिदिन के आधार पर एयर ट्रैफिक की निगरानी कर रहा है. उम्मीद की जा रही है कि त्योहारी सीजन में एयर ट्रैफिक बढ़ेगा जैसे ही पैसेंजर ट्रैफिक बढ़ता है. तो आने वाले समय में अपर फेयर कैप यानी ऊपरी सीमा को नार्मल कैपेसिटी का 70-75% तक बढ़ाया जा सकता है.



यह भी पढ़ें: VGIR 2020 Updates: इन्वेस्टर राउंड टेबल में PM मोदी बोले- महामारी में दुनिया ने देखी भारत की ताकत

66 फीसदी क्षमता के साथ फ्लाइट्स का हो रहा है संचालन- 1 नवंबर को मिले आंकड़े के मुताबिक डेली पैसेंजर ट्रैफिक 2.05 लाख से अधिक हो गया है. मई में शुरू किए गए डोमेस्टिक फ्लाइट सर्विस के लिए एयरलाइन्स कंपनियां अपनी क्षमता का 33 फीसदी के साथ उड़ान सेवा दे रही थी. उस समय रोजाना औसतन 30000 यात्री ही हवाई यात्रा कर रहे थे. फ़िलहाल यह आंकड़ा 2.05 लाख को पार कर गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज