शेयर बाजार में कोहराम, सेंसेक्स 587 अंक गिरकर बंद, निवेशकों के 2.20 लाख करोड़ रुपये डूबे

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 5:09 PM IST
शेयर बाजार में कोहराम, सेंसेक्स 587 अंक गिरकर बंद, निवेशकों के 2.20 लाख करोड़ रुपये डूबे
निवेशकों के डूबे 2.20 लाख करोड़ रुपये

कारोबार के अंत में चौतरफा बिकवाली की वजह से शेयर बाजार (Stock Market) 6 महीने के निचले स्तर पर बंद हुआ. सेंसेक्स 587.44 प्वाइंट्स टूटकर 36,472.93 के स्तर पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 181 प्वाइंट्स फिसलकर 10,734 के स्तर पर क्लोज हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2019, 5:09 PM IST
  • Share this:
शेयर बाजार (Stock Market) गुरुवार को भारी गिरावट के साथ बंद हुआ. सरकार (Government) द्वारा अर्थव्यवस्था (Economy) को गति देने के लिए राहत पैकेज के ऐलान में अस्पष्टता से निवेशकों की निराशा बाजार पर भारी पड़ गई. कारोबार के अंत में चौतरफा बिकवाली की वजह से शेयर बाजार 6 महीने के निचले स्तर पर बंद हुआ. सेंसेक्स (Sensex) 587.44 प्वाइंट्स टूटकर 36,472.93 के स्तर पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी (Nifty) 181 प्वाइंट्स फिसलकर 10,734 के स्तर पर क्लोज हुआ. निफ्टी का 26 फरवरी और सेंसेक्स का 5 मार्च के बाद यह सबसे निचला स्तर है. बाजार में भारी गिरावट से एक दिन में निवेशकों के 2.20 लाख करोड़ रुपये डूब गए.

निवेशकों के डूबे 2.20 लाख करोड़ रुपये
गुरुवार को शेयर बाजार में गिरावट से निवेशकों को तगड़ा झटका लगा. एक दिन में निवेशकों के 2 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा डूब गए. बुधवार को बीएसई में लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,38,84,069.39 करोड़ रुपये था. वहीं गुरुवार को सेंसेक्स में बड़ी गिरावट से मार्केट कैप 2,20,836.62 करोड़ रुपये घटकर 1,36,66,251.05 करोड़ रुपये हो गया.

ये भी पढ़ें: Mutual Fund और FD छोड़ यहां लगाएं पैसा मिलेगा बंपर रिटर्न!



सिर्फ आईटी शेयरों में रही तेजी
आईटी शेयरों को छोड़कर आज बाजार में सभी सेक्टर में बिकवाली देखने को मिली. निफ्टी पर सबसे ज्यादा बिकवाली मेटल शेयरों में रही है. मेटल इंडेक्स करीब 3.64 फीसदी टूट गया है. बैंक निफ्टी 2.38 फीसदी यानी 670.05 अंक टूटकर 27,049 के स्तर पर बंद हुआ. पीएसयू बैंक इंडेक्स 3.5 फीसदी और प्राइवेट बैंक इंडेक्स 2.5 फीसदी टूटकर बंद हुआ.
Loading...

DLF का स्टॉक 19.4% टूटा
प्रॉपर्टी डेवलपर कंपनी DLF के शेयर गुरुवार को 19.4 फीसदी गिरकर 138.30 रुपये पर आ गए. यह कंपनी के शेयरों का 31 महीनों का सबसे निचला स्तर है. सुप्रीम कोर्ट ने DLF के खिलाफ एक याचिका की सुनवाई के दौरान कंपनी को नोटिस जारी किया है. कंपनी पर आरोप है कि इसने अपने शेयरहोल्डर्स की अहम जानकारियों को छिपा कर रखा. यह नोटिस हरियाणा में कंपनी के सबसे बड़े लैंडबैंक को लेकर है.

ये भी पढ़ें: अक्टूबर से लौटाएंगे दूध के पुराने पैकेट तो मिलेगी बड़ी छूट

यस बैंक में 14% की गिरावट
निजी सेक्टर के लेंडर यस बैंक के शेयरों में गिरावट का जो सिलसिला इस साल शुरू हुआ था, वह अब तक जारी है. गुरुवार को यस बैंक का शेयर करीब 713.91फीसदी टूटकर 56.30 रुपये के भाव पर आ गया जो करीब 5.5 साल का सबसे निचला स्तर है. इसके पहले मार्च 2014 में शेयर ने यह स्तर देखा था. यस बैंक के शेयर ने 20 अगस्त 2018 को अपना ऑलटाइम हाई बनाया और शेयर 404 रुपये के भाव पर पहुंच गया. लेकिन 20 अगस्त के बाद से अब तक शेयर में लगातार गिरावट आई है. 22 अगस्त 2019 को शेयर 56.30 रुपये के भाव पर आ गया. यानी रिकॉर्ड हाई से करीब 86 फीसदी गिरावट आ गई.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 4:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...