अपना शहर चुनें

States

Coca Cola का कमाई बढ़ाने के लिए सीक्रेट फॉर्मूला तैयार! बाबा रामदेव की पतंजलि को मिलेगी टक्कर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोका कोला अब बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद की तरह ही घरेलू प्रोडक्ट जैसे जलजीरा, आम का पन्ना जैसे कोल्ड ड्रिंक बेचेगी.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोका कोला अब बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद की तरह ही घरेलू प्रोडक्ट जैसे जलजीरा, आम का पन्ना जैसे कोल्ड ड्रिंक बेचेगी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोका कोला अब बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद की तरह ही घरेलू प्रोडक्ट जैसे जलजीरा, आम का पन्ना जैसे कोल्ड ड्रिंक बेचेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 29, 2019, 6:19 PM IST
  • Share this:
कोल्ड ड्रिंक के घटते कारोबार से चिंतित कोका कोला (Coca Cola) अपनी कमाई बढ़ाने के लिए नया फॉर्मूला लाई है. कंपनी अब देसी प्रोडक्ट लॉन्च करने की तैयारी में है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोका कोला अब बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद की तरह ही घरेलू प्रोडक्ट जैसे जलजीरा, आम का पन्ना जैसे कोल्ड ड्रिंक बेचेगी. कंपनी ने इसके लिए रोडमैप तैयार कर लिया है. वहीं, हाल में कंपनी जलजीरा लॉन्च किया. इसके बाद गर्मियों के सीजन में आम का पन्ना उतारने की तैयारी में है.

आपको बता दें कि कोका कोला जलजीरा के लॉन्चिंग के बाद अब आम का पन्ना लाने की तैयारी है. इसके अलावा दही, लस्‍सी और बटर मिल्‍क उत्‍पाद भी भारत में लॉन्‍च किए जाएंगे.

क्या है कोका कोला का नया प्लान- कंपनी अब घरेलू नुस्खों पर आधारित ड्रिंक बेचेगी.  आम का पन्ना, जलजीरा जैसे भारत के पारंपरिक पेय पदार्थ पर फोकस बढ़ा रही है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते 3 साल में इन सभी ड्रिंक के पैकेज्‍ड में आने से इनकी डिमांड 32 फीसदी बढ़ गई है. यह बढ़ोतरी कोल्‍ड ड्रिंक की मांग से 3 गुना अधिक है. (ये भी पढ़ें-1 अप्रैल से बदल जाएगा इन दो बैंकों के ग्राहकों की चेकबुक और ATM कार्ड, जानिए क्या है वजह)




कोक के भारत में CEO टी. कृष्‍णकुमार ने हाल के इंटरव्यू में कहा है कि भारत के 29 राज्‍य कंपनी के लिए 29 देशों के बराबर हैं. यह अलग-अलग भाषाएं, खानपान और आदतें हैं. फूड और बेवरेजेज को लेकर लोगों की आदतें भी अलग-अलग हैं. (ये भी पढ़ें-सुकन्या, PPF जैसी स्कीम पर सरकार का फैसला! 1 अप्रैल से 30 जून तक मिलेगा इतना ब्याज)

कृष्‍णकुमार का कहना है कि, भारत में जूस मार्केट का साइज 3.6 अरब डॉलर का है. इसमें 72 फीसदी आम ठेलों पर बिकने वाला जूस है. कंपनी किफायती दाम पर भारतीय पेय ग्राहकों तक पहुंचाने की तैयारी में है. वह स्‍थानीय स्‍तर पर आम और लिची का उत्‍पादन शुरू करेगी. इसके लिए कंपनी 1.7 अरब डॉलर का निवेश करेगी.



इन सभी प्रोडक्ट पर छोटी कंपनियों की बादशाहत- भारत में सभी पारंपरिक ड्रिंक पर छोटी-छोटी कंपननियों का कब्ज़ा है. इन कंपनियों में खासकर मुंबई की Xotik Frujus और राजस्थान का Jayanti Group बड़ा मार्केट शेयर रखते हैं. इन कंपनियां की ज्यादा स्लोगन  ‘Be Indian Buy Indian' जैसे है. इसी तरह कोका कोला भी नए स्लोगन लाने की तैयारी में है.(ये भी पढ़ें-PHOTOS: 1 अप्रैल से सोशल मीडिया पर रईसी दिखाना पड़ेगा भारी, इनकम टैक्स की नई पॉलिसी होगी लागू)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज