मालिक के लापता होने से कॉफी डे का शेयर 20% टूटा, निवेशकों के 813 करोड़ डूबे

कैफे कॉफी डे के मालिक के वी.जी. सिद्धार्थ के लापता होने से शेयर 20 फीसदी टूट गया, जिससे एक झटके में निवेशकों के 813.32 करोड़ रुपये डूब गए.

News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 3:02 PM IST
मालिक के लापता होने से कॉफी डे का शेयर 20% टूटा, निवेशकों के 813 करोड़ डूबे
कैफे कॉफी डे मालिक के लापता, निवेशकों के 813 करोड़ डूबे
News18Hindi
Updated: July 30, 2019, 3:02 PM IST
कैफे कॉफी डे (CCD) ब्रांड नाम से कॉफी रेस्तरां चलाने वाली कंपनी कॉफी डे एंटरप्राइजेज के संस्थापक, चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक वी.जी. सिद्धार्थ सोमवार शाम से लापता हैं. कंपनी ने मंगलवार को शेयर बाजार को दी जानकारी में इसकी पुष्टि की. इस खबर के बाद BSE पर सीसीडी का शेयर 20 फीसदी तक गिर गया और यह 52 हफ्ते के सबसे निचले स्तर 154.05 रुपये प्रति शेयर पर पहुंच गया. स्टॉक में गिरावट से एक झटके में निवेशकों के 813.32 करोड़ रुपये डूब गए.

कंपनी ने कहा, ''कॉफी डे एंटरप्राइजेज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक वी.जी. सिद्धार्थ से कल शाम से संपर्क नहीं हो पा रहा है. हम संबंधित प्राधिकारियों की मदद ले रहे हैं. कंपनी का प्रबंधन पेशेवर लोगों के हाथ में है. इसका नेतृत्व प्रतिस्पर्धी लोग कर रहे हैं जो कारोबार का सुचारू संचालन सुनिश्चित करेंगे.'' सिद्धार्थ, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एस. एम. कृष्णा के दामाद हैं.

एक झटके में 813 करोड़ रुपये डूबे
कॉफी डे इंटरप्राइजेज का शेयर सोमवार को 192.55 रुपये के भाव पर बंद हुआ था. वहीं आज बाजार खुलते ही शेयर अपने 52 हफ्तों के लो 154.05 रुपये पर आ गया. शेयर के इस भाव पर आते ही कंपनी का मार्केट कैप घटकर 3,254.33 करोड़ रह गया. जबकि सोमवार को यह 4067.65 करोड़ रुपये था. यानी एक झटके में निवेशकों के 813.32 करोड़ रुपये डूब गए.

ये भी पढ़ें: Cafe Coffee Day के मालिक वीजी सिद्धार्थ लापता, 5 लाख में शुरू किया था कारोबार, आज है 4000 करोड़ की कंपनी

सामने आई ये चिट्ठी
CNN-News18 को सिद्धार्थ की एक चिट्ठी भी मिली है, जो उन्होंने बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स और सीसीडी फैमिली को लिखी है. इस चिट्ठी में उन्होंने कंपनी की माली हालत और अपने ऊपर कर्ज़ का ज़िक्र किया है. चिट्ठी में वीजी सिद्धार्थ ने अपनी नाकामी के बारे में लिखा- 'मैं सीसीडी को प्रॉफिटेबल बिजनेस मॉडल बनाने में नाकाम रहा. हालांकि मैंने पूरी कोशिश की. मैंने इसे पूरी जिंदगी दी. लेकिन मुझे माफ कर दीजिए. मैं आप सबकी उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाया. परेशानियों को खत्म करने के लिए मैं लंबे समय से जूझता रहा, मगर अब हिम्मत हार गया हूं. मुझमें और प्रेशर लेने की ताकत नहीं है. मुझ पर दोस्तों का काफी कर्ज है. कुछ प्राइवेट इक्विटी पार्टनर्स भी मुझे अपनी शेयर बेचने का दबाव बना रहे हैं.'
Loading...



प्रताड़ना का आरोप
बता दें कि वी.जी. सिद्धार्थ पर सितंबर 2017 से ही अघोषित संपत्ति रखने के मामले में जांच चल रही है. वहीं, उनकी कंपनी ‘कैफे कॉफी डे’ लंबे समय से घाटे में चल रही है. उन्होंने कंपनी के कर्मचारियों और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर को इस बारे में एक लेटर भी लिखा है, जिसमें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट पर प्रताड़ना का आरोप भी लगाया है. फिलहाल आशंका जताई जा रही है कि कारोबार से जुड़ी परेशानियों के चलते कहीं उन्होंने आत्महत्या तो नहीं कर ली.

हरकत में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट
वी.जी. सिद्धार्थ के आरोपों पर इनकम टैक्स विभाग हरकत में आया है. इनकम टैक्स विभाग आरोपों की छानबीन में जुट गया है. जिस DG पर आरोप लगा है उसके खिलाफ शिकायत नहीं है. इनकम टैक्स विभाग सिद्धार्थ की देनदारी की जांच कर रहा है.

ये भी पढ़ें: गुम होने से पहले कैफे कॉफी डे के मालिक ने लिखी भावुक चिट्ठी- भारी कर्ज है, मुझे माफ कर देना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 1:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...