Home /News /business /

consumers can get un hallmarked jewellery tested at bis recognized centres kcnd

बिना हॉलमार्क वाली Gold ज्वैलरी की शुद्धता भी करा सकेंगे जांच, जानिए कितना देना होगा शुल्क

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय (The Ministry of Consumer Affairs) ने कहा कि जरूरी हॉलमार्किंग को सफलतापूर्वक लागू कर दिया गया है. इसमें हर दिन तीन लाख सोने की वस्तुओं को एचयूआईडी (Hallmark Unique Identification) के साथ प्रमाणित किया जा रहा है.

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय (The Ministry of Consumer Affairs) ने कहा कि जरूरी हॉलमार्किंग को सफलतापूर्वक लागू कर दिया गया है. इसमें हर दिन तीन लाख सोने की वस्तुओं को एचयूआईडी (Hallmark Unique Identification) के साथ प्रमाणित किया जा रहा है.

Un-Hallmarked Jewellery Tested at BIS Centres : उपभोक्ता अब भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) से मान्यता प्राप्त जांच सुविधा केंद्रो में अपने बिना हॉलमार्क (Hallmark) वाले सोने की ज्वैलरी की भी शुद्धता जांच करवा सकते हैं. सोने की चार ज्वैलरी की शुद्धता जांच के लिए शुल्क के रूप में 200 रुपये का भुगतान करना होगा. पांच या अधिक ज्वैलरी के लिए शुल्क प्रति यूनिट 45 रुपये है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. सरकार ने उन उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी है, जिनके पास बीआईएस (Bureau of Indian Standard-BIS) वाले सोने की शुद्ध ज्वैलरी नहीं है. अब ऐसे उपभोक्ता भी ज्लैवरी की शुद्धता की जांच करा सकते हैं. इसके लिए उन्हें शुल्क का भुगतान करना होगा.

सरकार ने एक बयान में कहा कि उपभोक्ता अब भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) से मान्यता प्राप्त जांच सुविधा केंद्रो में अपने बिना हॉलमार्क (Hallmark) वाले सोने की ज्वैलरी की भी शुद्धता जांच करवा सकते हैं. सोने की चार ज्वैलरी की शुद्धता जांच के लिए शुल्क के रूप में 200 रुपये का भुगतान करना होगा. पांच या अधिक ज्वैलरी के लिए शुल्क प्रति यूनिट 45 रुपये है.

ये भी पढ़ें- EPFO की ब्याज दर एक बार फिर चर्चा में, फंड को कहां निवेश कर पैसा कमाता है ईपीएफओ

किसी सेंटर में करा सकते हैं जांच
उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय (The Ministry of Consumer Affairs) ने कहा कि जरूरी हॉलमार्किंग को सफलतापूर्वक लागू कर दिया गया है. इसमें हर दिन तीन लाख सोने की वस्तुओं को एचयूआईडी (Hallmark Unique Identification) के साथ प्रमाणित किया जा रहा है. बीआईएस ने अब एक आम उपभोक्ता को बीआईएस से मान्यता-प्राप्त एसेइंग एंड हॉलमार्किंग सेंटर (Assaying and Hallmarking Centres-ACH) में से किसी में भी अपने बिना हॉलमार्क वाले सोने की ज्वैलरी की शुद्धता जांच कराने की अनुमति देने का प्रावधान किया है.

ये भी पढ़ें- Investment Tips : दो साल में इस इक्विटी स्मॉलकैप इंडेक्स प्लान ने पैसे को दोगुना किया, जानिए डिटेल

जरूरत के समय बेचने में होगी आसानी
उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने कहा एएचसी को प्राथमिकता के आधार पर आम उपभोक्ताओं से सोने की ज्वैलरी का परीक्षण करना चाहिए. इसके बाद उन्हें एक शुद्धता रिपोर्ट देनी चाहिए. उपभोक्ता को जारी की गई शुद्धता रिपोर्ट उन्हें उनकी ज्वैलरी की शुद्धता के बारे में आश्वस्त करेगी. अगर उपभोक्ता अपने पास पड़ी ज्लैवरी बेचना चाहता है तो भी यह रिपोर्ट उपयोगी होगी.

ऐप से भी कर सकते हैं वेरिफाई
उपभोक्ता की ओर से खरीदे गए एचयूआईडी नंबर के साथ हॉलमार्क वाले सोने के आभूषणों की प्रामाणिकता और शुद्धता को बीआईएस केयर ऐप-वेरीफाई एचयूआईडी का उपयोग करके भी सत्यापित किया जा सकता है. इसे प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है.

Tags: Gold hallmarking

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर