लॉकडाउन में किराना स्टोर्स से खरीदारी कर रहे लोग, पब्लिक ट्रांसपोर्ट से मोहभंग: सर्वे

लॉकडाउन में किराना स्टोर्स से खरीदारी कर रहे लोग, पब्लिक ट्रांसपोर्ट से मोहभंग: सर्वे
ज्यादातर उपभोक्ता आगे स्थानीय किराना दुकानों से ही खरीदारी करना पसंद.

डेलायट ग्लोबल स्टेट ऑफ दि कंज्यमूर ट्रैकर के सर्वे से पता चलता ​है कि लॉकडाउन में ज्यादातर उपभोक्ता स्थानीय किराना दुकानों से खरीदारी करना पसंद कर रहे हैं. वहीं, सर्वे में 79 फीसदी लोगों का कहना था कि वे नया वाहन खरीदना चाहेंगे.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. देश में ज्यादातर उपभोक्ता (Consumer) आगे स्थानीय किराना दुकानों (Nearby Consumer Stores) से ही खरीदारी करना पसंद करेंगे. एक सर्वे में कहा गया है कि लॉकडाउन के दौरान उपभोक्ताओं का किराना दुकानों के प्रति भरोसा बढ़ा है. ‘डेलायट ग्लोबल स्टेट ऑफ दि कंज्यमूर ट्रैकर’ सर्वे में यह तथ्य भी उभरकर सामने आया है कि देश के उपभोक्ता घरों में किराना सामान का भंडार नहीं कर रहे हैं. सर्वे में कहा गया है कि पिछले छह सप्ताह के दौरान उपभोक्ता खर्च के तरीके में बदलाव आया है.

55 फीसदी लोगों को किराना या परचून की दुकान पर भरोसा
सर्वे में 1,000 लोगों की राय ली गई है. सर्वे में शामिल 55 फीसदी लोगों ने कहा कि वे किराना या परचून के सामान पर अधिक खर्च करना चाहेंगे. वहीं 52 फीसदी ने रोजाना इस्तेमाल के घर के सामान पर अधिक खर्च करने की बात कही.

उपलब्ध ब्रांड्स पर भी ध्यान



इसके अलावा 72 फीसदी का कहना था कि वे स्थानीय किराना दुकान से सामान खरीदना चाहेंगे. यह दर्शाता है कि लॉकडाउन के दौरान किराना दुकानों के प्रति लोगों का भरोसा बढ़ा है. 64 फीसदी उपभोक्ताओं का कहना था कि वे उन ब्रांडों की खरीद करेंगे, जो संकट के समय आसानी से उपलब्ध हुए.



यह भी पढ़ें: बड़ी खबर! 31 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन कराने वाले किसानों के ही खाते में आएंगे पैसे

पब्लिक ट्रांसपोर्ट का कम इस्तेमाल करेंगे
आवागमन के बारे में ज्यादातर उपभोक्ताओं ने कहा कि वे सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल कम करेंगे. 70 फीसदी ने एप आधारित वाहन सेवा का इस्तेमाल करने से बचेंगे.

बढ़ सकती है नये वाहन की डिमांड
सर्वे में 79 फीसदी लोगों का कहना था कि वे नया वाहन खरीदना चाहेंगे. इस सर्वे में डेलॉयट इंडिया के भागीदार एवं उपभोक्ता उद्योग लीडर अनिल तलरेजा ने कहा कि यह चुनौतीपूर्ण समय में उपभोक्ताओं के व्यवहार और रुख में बदलाव को दर्शाता है.

यह भी पढ़ें:  फूड बिजनेस शुरू करना हुआ आसान, घर बैठे मिल जाएगा लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन

बड़ी खबर! 31 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन कराने वाले किसानों के ही खाते में आएंगे पैसे
First published: May 31, 2020, 9:11 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading